खबर तह तक

इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने को पिये जोशांदा काढ़ा

जोशांदा काढ़ा

कोरोना को मात देने को बढ़ाएं रोग प्रतिरोधिक क्षमता

अयोध्या। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए शरीर की रोग प्रतिरोधिक क्षमता (इम्युनिटी सिस्टम) का मजबूत होना जरूरी है। इसके लिए हमें अपने खान-पान का विशेष ख्याल रखना होगा। रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा जोशांदा काढ़ा  पीने की सलाह दी जा रही है। इसके अलावा आयुर्वेदाचार्यों की मानें तो गिलोय का सेवन करके भी हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत कर सकते हैं। आयुष मंत्रालय द्वारा जिस जोशांदा काढ़े को पीने की सलाह दी जा रही है, आखिर उसमें ऐसा क्या है जो कोरोना की जंग में जीत दिलवा सकता है।

आयुर्वेदिक डॉ.ब्रजेन्द्र श्रीवस्तव बताते हैं कि जोशांदा काढ़ा, पूरी तरह से देशी काढ़ा है। कोरोना वायरस के संक्रमण काल के अलावा भी इसके सेवन से फायदा होता है। यह  शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है और सर्दी, खांसी जुकाम से बचाने में कारगर होता है। बुखार के कारण होने वाली शरीर की जकड़न इससे ठीक होती है। वहीं कोरोना से बचाव में यह  काढ़ा अहम भूमिका निभा रहा है।

वह बताते हैं कि भारतीय चिकित्सा पद्धति विश्व की सबसे प्राचीन पद्धति है। आयुर्वेद ने पूरी दुनिया को चिकित्सा का ज्ञान दिया है। एनर्जी के लिए जो परिवार सॉफ्ट डिं्रक को वरीयता देते थे आज उन परिवारों सहित युवा पीढ़ी भी आयुर्वेदिक काढ़े को पीना बेहतर समझ रही है।

डॉ.ब्रजेन्द्र श्रीवस्तव बताते हैं कि जोशांदा काढ़ा बनाने के लिए साफ पानी, तुलसी की पत्ती, लौंग, काली मिर्च, छोटी इलायची, अदरक, गुड़ और चायपत्ती की जरूरत होती है। इसे बनाने के लिए सबसे पहले पानी गर्म होने के लिए रख दें। जब पानी उबलने लगे तब उसमें पीसी हुई लौंग, काली मिर्च, इलायची, अदरक, और स्वादानुसार गुड़ ड़ाल दें। थोड़ी देर बाद तुलसी की पत्तियां इसमें डाल दें। उसके बाद चायपत्ती। जब पानी आधा रह जाए तो गैस बंद कर दीजिए। पानी को छान लें। इसे गर्म पीना ही फायदेमंद होता है।  शरीर के इम्यून सिस्टम को दुरूस्त रखने के लिए गुनगुना पानी और आंवला, एलोवेरा, गिलोय, नींबू आदि का जूस पीना चाहिए।

इसके अलावा पानी में तुलसी के रस की कुछ बूंदें डालकर अथवा गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पी सकते हैं। तुलसी की 5 पत्तियां, 4 काली मिर्च, 3 लौंग, एक चम्मच अदरक का रस शहद के साथ ले सकते हैं। अथवा तुलसी की 10-15 पत्तियां, 5-7 काली मिर्च, थोड़ी दालचीनी और अदरक की चाय पी सकते हैं ।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More