उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

राष्ट्रपति चुनाव में जो हमसे वोट मांगेगा हम उसे वोट करेंगे: शिवपाल यादव

लखनऊ: प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने एक बार फिर अपने भतीजे और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव में राजनीतिक परिपक्वता की कमी है। वह किसी से भी सलाह लेना नहीं पसंद करते हैं। इसी के साथ एनडीए राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के लिए आयोजित डिनर में पहुंचने को लेकर भी उन्होंने साफ किया कि हमें बुलाया गया था इसलिए हम गए।

यशवंत सिन्हा के आने पर नहीं मिला बुलावा

शिवपाल यादव ने कहा कि सपा की ओर से किसी भी मीटिंग में उन्हें नहीं बुलाया जाता है। बीते दिनों यशवंत सिन्हा लखनऊ आए थे। उस दौरान किसी ने भी उन्हें समाजवादी पार्टी के आफिस में नहीं बुलाया। यह सब कुछ राजनैतिक अपरिपक्वता के चलते हो रहा है और समाजवादी पार्टी लगातार कमजोर हो रही है। पार्टी से अनुभवी लोग किनारा करते जा रहे हैं। शिवपाल ने कहा कि हमने पहले ही कहा था कि जहां हमें बुलाया जाएगा और जहां हमसे वोट मांगा जाएगा हम वोट देंगे। पहले भी जब राष्ट्रपति चुनाव हुए तो सपा ने हमें(शिवपाल यादव) नहीं बुलाया। इसी के चलते हमने उस समय तत्कालीन राष्ट्रपति रामानाथ कोविंद को वोट दिया था।

‘सीएम योगी ने फोन कर हमें किया आमंत्रित’

शिवपाल यादव ने लोकसभा उपचुनाव में हार को लेकर कहा कि अगर हमें आजमगढ़ बुलाते तो धर्मेंद्र यादव की जीत होती। किसी से भी सुझान न लेने के कारण ही सपा में टूट हो रही है। अगर अखिलेश चुनाव में सिर्फ हमें स्टार प्रचारक ही बना देते तो आजमगढ़ चुनाव में जीत मिल जाती। उपचुनाव में की गई गलती के बाद जब यशवंत सिन्हा लखनऊ आए तो भी हमें सूचना नहीं दी गई। सीएम योगी ने फोन कर द्रौपदी मुर्मू के आने की जानकारी दी और आमंत्रित किया। इसी के चलते हम सीएम आवास पर आयोजित डिनर में शामिल होने के लिए भी पहुंचे।

आपको बता दें कि शुक्रवार को एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू लखनऊ आई थीं। यहां उन्होंने सांसदों और विधायकों से समर्थन की अपील की थी। सीएम आवास पर आयोजित कार्यक्रम में प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव और ओम प्रकाश राजभर भी पहुंचे थे। जिसके बाद समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका मिलने की बात भी सामने आई थी। इसी कड़ी में शिवपाल यादव ने सामने आकर सीएम आवास पहुंचने की वजह को रखा।

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button