अमेठीउत्तर प्रदेशखेल-खिलाड़ी

दिल्ली राज्य मे प्रतिभाशाली महिला और पुरुष खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है”-डॉ0 अमीता सिंह, अध्यक्ष, डीसीबीए

दिल्ली स्टेट रैंकिंग प्राइज मनी बैडमिंटन चैंपियनशिप’ के पुरस्कार वितरण समारोह में शामिल हुए केंद्रीय मंत्री।

 

नई दिल्ली। 30 मई, सोमवार, ‘दिल्ली कैपिटल बैडमिंटन एसोसिएशन’-डीसीबीए द्वारा आयोजित ‘दिल्ली स्टेट रैंकिंग प्राइज मनी बैडमिंटन चैंपियनशिप 2022’ के 7वें दिन 29 मई की देर शाम तक टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला खेला गया।

रविवार को ‘दिल्ली स्टेट रैंकिंग प्राइज मनी बैडमिंटन चैंपियनशिप 2022’ के पुरस्कार वितरण समारोह मे मुख्य अतिथि के रूप मे भारत सरकार के विधि और न्याय मंत्री किरन रिजिजु शामिल हुए। केंद्रीय विधि और न्याय मंत्री किरन रिजिजु पूर्व मे युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री रह चुके हैं। श्री रिजिजु ने युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री रहते हुए युवाओं को प्रेरित करने और खेल को बढ़ावा देने के लिए अहम कदम उठाए जिससे वह खिलाड़ियों के बीच बेहद लोकप्रिय हैं।
केंद्रीय विधि और न्याय मंत्री किरन रिजिजु ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि डीसीबीए के इस बैडमिंटन टूर्नामेंट को खेलो इण्डिया के साथ जोड़कर इसे जनपद स्तर तक पहुंचाना चाहिए जिससे ओलंपिक मे पदक आ सकें। उन्होने कहा की जब मै खेल मंत्री था तब मैंने खेलो इण्डिया मुहिम के अंतर्गत टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (टॉप्स) जूनियर्स प्रतियोगिताएं शुरू कराई थी। उन्होने कहा की खेल की शक्ति से सोचने की शक्ति और जीवन शैली दोनों मे परिवर्तन होता है। उन्होने कहा की आज मै यहाँ खिलाड़ियों को प्रेरित करना चाहता हूँ जिससे वो 2024 मे पेरिस मे होने वाली प्रतियोगिताओं मे मेडल ला सकें। महिला और पुरुष खिलाड़ियों के साथ भारत बैडमिंटन के खेल मे पावरहाउस की तरह है। केंद्रीय विधि और न्याय मंत्री किरन रिजिजू ने कहा की प्रधानमंत्री के नेतृत्व मे हमने खेलो इण्डिया अभियान को सफल बनाने मे अप्रत्याशित सफलता प्राप्त किया है।
डीसीबीए अध्यक्ष व पूर्व मंत्री के साथ अंतर्राष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी रही डॉ0 अमीता सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजु का आभार व्यक्त किया तथा कहा की पूर्व खेलमंत्री व वर्तमान विधि और न्याय मंत्री की उपस्थिति से खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ा है और जोश से भरे दिखाई दे रहे हैं। डॉ0 अमीता सिंह ने कहा की पिछले साल नवंबर 2021 में ‘द ट्रांसफार्म डेल्ही स्टेट रैंकिंग प्राइज़ मनी बैडमिंटन चैंपियनशिप 2021’ का सफल आयोजन किया गया था। उसी शृंखला मे प्रस्तावित तीन टूर्नामेंट मे यह दूसरा टूर्नामेंट रविवार को समाप्त हुआ है। डॉ0 अमीता सिंह ने कहा की दिल्ली राज्य मे प्रतिभाशाली महिला और पुरुष खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं है अब डीसीबीए उस प्रतिभा को पोषित करके दिशा देने का कार्य कर रहा है जिससे दिल्ली के खिलाड़ी पोडियम फिनिश तक पहुँचे। डॉ0 अमीता सिंह ने कहा की मै बतौर डीसीबीए अध्यक्ष इसे उच्च शिखर तक पहुँचाने का पूरा प्रयास करूंगी।
कार्यक्रम के अंत मे सभी सफल खिलाड़ियों को मुख्य अतिथि विधि और न्याय मंत्री, भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत किया गया और मेडल, टी-शर्ट, शूज, तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। सफल खिलाड़ियों मे मेन्स सिंगल मे अर्जुन रहणी, विमेन सिंगल मे दीपशिखा सिंह, गर्ल्स सिंगल (19 वर्ष) मे इसोबेल कुरियन, मिक्स्ड़ डबल (19 वर्ष) मे वासू और आयुषी, 15 वर्ष आयु वर्ग मे योगांश सिंह और ईशिता नेगी, मेन्स डबल 35 वर्ष आयु वर्ग मे देविन्दर ढिल्लन और हेमंत दुग्गल, व्याज सिंगल 19 वर्ष मे एसजी इंपौल, गर्ल्स सिंगल 17 वर्ष मे इसोबेल कुरियन, गर्ल्स सिंगल 15 वर्ष मे ईशिता नेगी, मिक्स्ड़ डबल 40 वर्ष मे देविन्दर ढिल्लन और हेमंत दुग्गल, 45 वर्ष मे गजेंद्र सिंह और रोहित वर्मा, गर्ल्स डबल 19 वर्ष मे इसोबेल कुरियन और स्तुति अग्रवाल, मिक्स्ड डबल मे रोहण कपूर और काव्या गुप्ता, 50 वर्ष मे ज्ञानेश जैसवाल और कवलजीत सिंह, गर्ल्स सिंगल 13 वर्ष मे ऋषिका नंदी के साथ –साथ विभिन्न आयु वर्गों मे कुश वत्स, जसप्रीत सिंह, योगांश सिंह, आयुषी दोधवल, लक्षिता सती, श्रेया त्रिपाठी, सुचित्रा मिश्रा, अपूर्वा चौधरी, तिया दाबस, संजीव कपूर विजय शर्मा, हर्षित नागपाल, आदि फ़ाइनल के खेल मे सफल रहे।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर योगेश सिंह तथा रजिस्ट्रार विकास गुप्ता, राम मल्होत्रा आदि के साथ पूर्व खिलाड़ी, खेल प्रेमी दर्शक बड़ी संख्या मे उपस्थित रहे और खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किए।

Lokesh Tripathi

पूरा नाम - लोकेश कुमार त्रिपाठी शिक्षा - एम०ए०, बी०एड० पत्रकारिता अनुभव - 6 वर्ष जिला संवाददाता - लाइव टुडे न्यूज़ चैनल एवं हिंदी दैनिक समाचारपत्र "कर्मक्षेत्र इंडिया" उद्देश्य - लोगों को सदमार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करना। "पत्रकारिता सिर्फ़ एक शौक" इच्छा - "ख़बरी अड्डा" के माध्यम से "कलम का सच्चा सिपाही" बनना।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button