खबर तह तक

अमेठी में जल्द ही बनेगी अत्याधुनिक असाल्ट राइफल ak-203

अमेठी स्थापित ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में बड़े ही धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया 220 वां स्थापना दिवस।

भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के अधीन आयुध निर्माणी द्वारा संगठन का स्थापना दिवस प्रतिवर्ष 18 मार्च को पूरे देश में आयुध निर्माणी दिवस के रूप में मनाया जाता है । क्योंकि 18 मार्च 1801 में कोलकाता के काशीपुर में ब्रिटिश कंपनी द्वारा गोला बारूद निर्माण की स्थापना करते हुए उत्पादन शुरू किया गया था। तब से लेकर अब तक इसी दिन समूचे भारत में स्थापित आयुध निर्माणी कंपनियां अपना स्थापना दिवस मनाती हैं । वर्तमान में समूचे भारत में कुल 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्री चल रही है जबकि उत्तर प्रदेश में इसकी की संख्या 9 है । इसी के क्रम में अमेठी जनपद के मुंशीगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत HAL कोरवा के पास शारदन में स्थित आयुधपुरम में नवीनतम ऑर्डिनेंस फैक्ट्री स्थापित है। जहां पर 18 मार्च को 220 वां स्थापना दिवस मनाए जाने को लेकर ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के महाप्रबंधक संदीप जैन के द्वारा आयोजित निर्माण दिवस का भव्य एवं हर्षोल्लास के साथ स्थापना दिवस मनाए जाने का निर्णय लिया गया। जिसके लिए पिछले 3 दिनों अर्थात 16 मार्च 2021 को आयुध निर्माणी महाप्रबंधक के द्वारा आवासीय परिसर में खेलों का उद्घाटन महिला कल्याण समिति के तत्वधान में कार्मिक परिवारों के लिए विभिन्न प्रकार के खेलों का आयोजन किया गया । इस मौके पर सुमन जैन “अध्यक्षा” दीपशिखा महिला कल्याण समिति कोरवा सरकार ने अपनी कार्यकारिणी की पदाधिकारियों के साथ मशाल जलाकर खेल परिसर की परिक्रमा किया तत्पश्चात महिलाओं के लिए 100 मीटर की दौड़ प्रतियोगिता आयोजित की गई । यहां पर काम कर रहे कार्मिकों के बच्चों के विभिन्न आयु वर्गों के लिए टॉफी रेस, जलेबी दौड़, पगबाधा दौड़, फ्रॉग रेस जैसी प्रतियोगिता का सफलतम आयोजन किया गया । इसके अगले दिन 17 मार्च 2021 को ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के कर्मचारियों के लिए लॉन्ग जंप 100 मीटर, 400 मीटर के साथ 400 मीटर की रिले रेस, गोला फेंक, 5 किलोमीटर दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । सुमन जैन “अध्यक्षा” महिला कल्याण समिति के मार्गदर्शन में महिलाओं द्वारा फूड मेला के तहत विभिन्न प्रकार के पकवानों के स्टाल लगाए गए । जिसका दर्शकों के द्वारा खूब आनंद उठाया गया । इन सब में विजेता खिलाड़ियों को फैक्ट्री के महाप्रबंधक सन्दीप जैन एवं अध्यक्षा सुमन जैन के द्वारा ट्राफी, स्मृति चिन्ह और पदक प्रदान किया गया। 3 दिनों से चल रहे विभिन्न कार्यक्रमों का समापन 18 मार्च 2021 अर्थात स्थापना दिवस के दिन किया गया । 18 मार्च को सुबह 7:00 बजे आयुध पुरम स्टेट से निर्माण गेट तक प्रभात फेरी निकाली गई । जिसमें सभी अधिकारी एवं कार्मिक शामिल हुए । फैक्ट्री के महाप्रबंधक द्वारा सुबह 11:15 बजे निर्माण के असेंबली मैदान में आयुध ध्वजारोहण किया गया । इस मौके पर महानिदेशक आयुध निर्माणी बोर्ड के संदेशों को आर०पी० कुशवाहा “उप महाप्रबंधक” द्वारा पढ़ा गया । तत्पश्चात महाप्रबंधक ने आयुध निर्माणी परियोजना कोरवा के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संबोधित किया तथा सर्वोत्तम सुझाव के लिए आजाद कुमार मशीनिस्ट को पुरस्कृत भी किया। इसी के साथ ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के जीएम की पहल पर आरसी कार्ड इन शाम 6:00 बजे अयोध्यपुरम के परिसर में आयुध उत्पादों जिसमें एलएमजी, राइफल, रिवाल्वर, पिस्टल, सपोर्टिंग राइफल, 12 बोर पंप एक्शन गन के साथ-साथ महिलाओं की सुरक्षा हेतु विकसित किए गए 0.32 बोर की पिस्टल की प्रदर्शनी आयोजित की गई । इस मौके पर हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के महाप्रबंधक एवं अन्य गणमान्य अदाधिकारी मौजूद रहे । प्रदर्शनी में प्रदर्शित उपकरणों का क्षेत्र के लोगों ने उत्साह पूर्वक अवलोकन किया तथा इसके निर्माण से संबंधित जानकारी हासिल की कार्यक्रम का अंतिम पड़ाव रात्रि 8:00 बजे से शुरू हुआ जिसमें आयुध पुरम परिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया इस कार्यक्रम में फैक्ट्री के महाप्रबंधक मुख्य अतिथि के रुप में शामिल हुए जिसमें निर्माणी के कार्मिकों द्वारा नाटक एवं नृत्य तथा गायन की प्रस्तुति की गई जिसका दर्शकों ने अपार करतल ध्वनि करते हुए स्वागत किया। यह कार्यक्रम देर रात तक चलता रहा । इस दौरान मीडिया से बात करते हुए ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के महाप्रबंधक ने बताया की अभी हम लोग यहां पर राइफल के उपकरण बनाते हैं जो की ट्रिची में बनती है इसी के साथ हम लोग मुरादनगर के भी उपकरण बना रहे हैं। किंतु शीघ्र ही यहां पर अत्याधुनिक असाल्ट राइफल ak-203 का निर्माण भी शुरू कर दिया जाएगा। जो कि भारतीय सेना के सुपुर्द किया जाएगा । इसी के साथ गन फैक्ट्री के प्रोडक्शन मैनेजर मोहित यादव ने बताया कि जितनी भी यहां पर गने हैं उसमें सबसे आधुनिक गन जो कहीं भी पूरे देश में अथवा विदेशों में चल रही हैं यह सभी गने उनके बराबर है । आज की तारीख में भारतीय सेना में हथियारों की जो लेटेस्ट रिक्वायरमेंट है उनकी प्रत्येक रिक्वायरमेंट पर यह गन खरी उतरती है । आगे हम लोग जो अत्याधुनिक असाल्ट राइफल ak-203 की बात कर रहे हैं । उसी लाइन पर यह सारी गने बनी हुई है ak-203 ऐसी गन है जिसके विषय में पूरा विश्व जानता है। जो हमारी सेना है और पुलिस फोर्स को उपलब्ध कराने के साथ निर्यात करने की भी योजना है ak-203 ऐसी गन है कि जिस के विषय में कुछ कहने की आवश्यकता नहीं है। यह हमारे सेना के जवानों की पोटेंसी को इतना अधिक बढ़ा देगा कि हमारी भारतीय सेना की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी।

अमेठी में जल्द ही बनेगी अत्याधुनिक असाल्ट राइफल ak-203

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More