खबर तह तक

तिलोई के डीबीएस स्कूल ने अभिभावकों को बड़ी राहत देते हुए आज से खोला विद्यालय।

कोरोना गाइडलाइंस का रखा गया विशेष ख्याल।

कोरोना महामारी के चलते पिछले 11 महीनों से सभी शिक्षण संस्थाएं पूरी तरह से बंद थे । अब जब कोरोना का कहर कम हुआ है तो सरकार ने सभी शिक्षण संस्थाओं को खोलने का भी निर्देश दे दिया है । ऐसे में सरकारी स्कूल खुलने के बाद अब निजी संस्थान भी बारी बारी से खुल रहे हैं । सरकारी विद्यालयों की अपेक्षाकृत निजी विद्यालयों के द्वारा कोरोना का विशेष ख्याल रखा जा रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि निजी संस्थान फीस के नाम पर मोटी रकम वसूल करते हैं । जिससे उनकी जवाबदेही भी अधिक हो जाती है ।लेकिन अमेठी जनपद के तिलोई तहसील में स्थित डीपीएस पब्लिक स्कूल के प्रबंधक संजय सिंह ने आज से विद्यालय खोलते हुए अभिभावकों को बड़ी राहत देने का ऐलान किया है । जिसमें उन्होंने कोरोना काल में बंद चल रहे विद्यालय को दृष्टिगत रखते हुए पिछले 10 माह की फीस को पूरी तरह माफ कर दिया है। जिससे छात्रों एवं अभिभावकों ने खुशी के साथ साथ राहत का भी अनुभव किया है। प्रिंसिपल प्रीति सिंह ने बताया कि हमारे विद्यालय के द्वारा बच्चों को सीधे प्रमोट नहीं किया जाएगा । क्योंकि करोना कॉल में कहीं ना कहीं बच्चों की पढ़ाई में बाधा आई है बच्चों का सिलेबस पूरा नहीं हो पाया है जिसके लिए अब स्कूल में उनको पढ़ाया जाएगा इसके बाद उनकी परीक्षा ली जाएगी तब बच्चों को आगे की कक्षा में प्रवेश दिया जाएगा जिससे उनके बेहतर भविष्य का निर्माण किया जा सके। आज जैसे ही बच्चे विद्यालय में आना शुरू हुए विद्यालय स्टाफ के द्वारा थर्मल स्कैनिंग की गई तथा स्वयं प्रिंसिपल ने छात्र-छात्राओं की आरती उतारते हुए उन पर पुष्प वर्षा कर उनको विद्यालय में प्रवेश दिया । कक्षा में भी सामाजिक दूरी का विशेष ख्याल रखा गया एक सीट पर दो बच्चों को बिठाया जा रहा है । साथ साथ साफ सफाई तथा हाइजीन का भी विशेष ध्यान विद्यालय के द्वारा दिया जा रहा है। वहीं पर विद्यालय पहुंची कक्षा 4 की छात्रा वैष्णवी तिवारी ने बताया कि आज विद्यालय पहुंचकर हमको बहुत अच्छा लग रहा है । कोरोना कॉल में हम लोग ऑनलाइन पढ़ाई करते थे लेकिन उसमें समस्या आती थी। आज हम लोग 1 साल के बाद विद्यालय आए हैं। हम लोगों को बहुत अच्छा महसूस हो रहा है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More