खबर तह तक

कोरोना वायरस के चलते योगी सरकार के अबतक 2 मंत्रियों की हुई मौत, UP में तेजी से बढ़ रहा कोरोना ग्राफ

0

नई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अबतक कोरोना वायरस के चलते योगी सरकार के दो मंत्रियों का निधन हो गया है। आज रविवार (16 अगस्त) लगभग शाम 4.30 बजे उत्तर प्रदेश के होमगार्ड मंत्री और पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान का गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज के दौरान किडनी फेल होने के बाद निधन हो गया। चेतन चौहान योगी सरकार के दूसरे कैबिनेट मंत्री हैं, जिनका कोरोना वायरस के कारण निधन हुआ है। इससे पहले कैबिनेट मंत्री कमला रानी का लखनऊ के पीजीआई में कोरोना वायरस के कारण निधन हुआ था।

बता दें कि, बीते माह 11 जुलाई को चेतन चौहान की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दरअसल, कोविड-19 की वजह से उनकी किडनी में इंफेक्शन बढ़ गया। शनिवार शाम दिक्कत बढ़ने पर उनको लखनऊ पीजीआई से मेदांता गुरुग्राम ले जाया गया। 73 वर्षीय चेतन चौहान की एक दिन पहले ही तबीयत और बिगड़ गई थी, उनकी किडनी फेल हो गई थी। जिसके कारण उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। जिस कारण मेदांता अस्पताल में लगभग 4:30 बजे उनका देहांत हो गया।

भारतीय क्रिकेट टीम में बल्लेबाज रह चुके चेतन चौहान अमरोहा जिले की नौगांवा विधानसभा से विधायक थे। चेतन चौहान ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 40 टेस्ट मुकाबले खेले हैं। भारत के लिए 40 टेस्ट खेलने वाले चौहान लंबे समय तक सुनील गावस्कर के सलामी जोड़ीदार रहे। वह दिल्ली और जिला क्रिकेट संघ में भी विभिन्न पदों पर रहे और आस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय टीम के मैनेजर भी थे। इसके अलावा चेतन चौहान ने सात एकदिवसीय मुकाबलों में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया है। टेस्ट मुकाबलों मे चेतन चौहान के नाम 2084 रन दर्ज हैं, टेस्ट मैचों में उनका सर्वोच्च स्कोर 97 रन है।

क्रिकेट से संन्यास लेकर वह राजनीति में सक्रिय भूमिका निभा रहे थे। चेतन चौहान भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से लोकसभा सांसद भी रह चुके हैं। 1991 और 1998 के चुनाव में वह बीजेपी के टिकट पर सांसद बने थे। फिलहाल यूपी में योगी सरकार में वह सैनिक कल्याण, होम गार्ड, पीआरडी, नागरिक सुरक्षा विभाग के मंत्री थे।

बता दें कि, चेतन चौहान से पहले 2 अगस्त को यूपी की एक अन्य कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण का भी कोरोना के कारण निधन हो चुका है। वह प्राविधिक शिक्षा मंत्री थीं। इसके अतिरिक्त यूपी के कानून मंत्री बृजेश पाठक, उपेंद्र तिवारी, जेल मंत्री जय प्रताप सिंह, राजेंद्र प्रताप सिंह, धर्म सिंह सैनी, कैबिनेट मंत्री मोती सिंह व महेंद्र सिंह कोरोना से ठीक हो चुके हैं। इसके अलावा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी बीते सप्ताह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

उप्र में संक्रमण के 4454 नए मामले, 58 और लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 से 58 और लोगों की मौत हो गई तथा संक्रमण के 4454 नए मामले सामने आए। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को बताया कि पिछले 24 घंटों में प्रदेश में कोविड-19 से 58 और लोगों की मौत के साथ राज्य में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2449 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा 11 मौतें लखनऊ में हुई हैं। इसके अलावा मुरादाबाद में पांच, कानपुर नगर में चार तथा वाराणसी और सहारनपुर में तीन-तीन लोगों की मौत हो गई। शाहजहांपुर, प्रयागराज, लखीमपुर खीरी, गोरखपुर, गोंडा, देवरिया, बरेली, अयोध्या और अंबेडकर नगर में दो-दो, तथा आगरा, अमरोहा, औरैया, बागपत, बलिया, बलरामपुर, बुलंदशहर, फतेहपुर, गाजीपुर, जालौन, कौशांबी, ललितपुर, प्रतापगढ़ तथा उन्नाव में कोविड-19 से एक-एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है।

प्रदेश में पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 4454 नए मामले सामने आए हैं। इनमें भी सबसे ज्यादा 814 मामले लखनऊ में सामले आए हैं इसके अलावा कानपुर नगर में 397 गोरखपुर में 385 तथा वाराणसी में 215 नए मामले सामने आए हैं। इस समय प्रदेश में उपचाराधीन मामलों की कुल संख्या 51,537 है। अब तक 100432 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। अपर मुख्य सचिव प्रसाद ने कहा कि कुल संक्रमित लोगों की संख्या के सापेक्ष मृतक दर घटकर 1.58 प्रतिशत हो गयी है और पूरी तरह ठीक हो चुके लोगों का प्रतिशत लगातार बढ़ रहा है। अब यह 65.03 प्रतिशत हो गया है। शनिवार को प्रदेश में 90,914 नमूनों की जांच की गई। अब तक प्रदेश में कुल 37,86,633 नमूनें जांचे जा चुके हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More