उत्तर प्रदेशलखनऊसियासत-ए-यूपी

समाजवादी पार्टी के विधायक भाजपा के समर्थन से लड़ेंगे विधानसभा उपाध्यक्ष का चुनाव

उत्तर प्रदेश विधानसभा के डिप्टी स्पीकर का चुनाव होना है. भाजपा ने समाजवादी पार्टी के बागी विधायक नितिन अग्रवाल को अपना समर्थन दिया है. लिहाजा विधायकों की संख्या के आधार पर नितिन अग्रवाल (Nitin Agrawal) का चुनाव जीतना तय है. वहीं माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी यूपी विधानसभा के डिप्टी स्पीकर चुनाव में भाजपा समर्थित नितिन अग्रवाल का विरोध कर सकती है. क्योंकि नितिन अग्रवाल सपा के टिकट पर ही विधायक बने हैं और उनकी विधानसभा की सदस्यता रद्द करने की मांग विधान सभा अध्यक्ष ने ठुकरा दी है.

बताया जा रहा है कि डिप्टी स्पीकर के चुनाव का विरोध करने का फैसला सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ही करेंगे. वहीं इसी बीच विधानसभा सचिवालय में 18 अक्टूबर को डिप्टी स्पीकर का चुनाव कराने की तैयारी शुरू हो गई है. असल में हरदोई से समाजवादी पार्टी के विधायक नितिन अग्रवाल के पिता नरेश अग्रवाल भाजपा में शामिल हो गए हैं. लेकिन विधानसभा में वह सपा के ही विधायक हैं. क्योंकि उन्होंने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है. जबकि सपा की तरफ से नितिन अग्रवाल की सदस्यता रद्द करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखा गया था. लेकिन विधानसभा अध्यक्ष ने सपा की मांग को ठुकरा दिया है. वहीं 2018 में हुए राज्यसभा चुनाव में नितिन ने भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में मतदान किया था. वहीं चर्चा है कि नितिन भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं.

नाकामी छिपा रही है भाजपा

फिलहाल इस मामले में सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का कहना है कि जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहे हैं. राज्य की सत्ताधारी भाजपा अपनी नाकामियों से ध्यान भटकाने के लिए साजिशें कर जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है. वर्तमान में डिप्टी स्पीकर का चुनाव कराने का कोई मतलब नहीं है.

विधानसभा सचिवालय ने शुरू की चुनाव की तैयारियां

दरअसल विधानसभा के 18वें डिप्टी स्पीकर के लिए चुनाव 18 अक्टूबर को होना है. लिहाजा इसके लिए सचिवालय में अफसरों की बैठक हुई है और इस बैठक में चुनाव प्रक्रिया को लेकर मंथन हुआ. ताकि चुनाव में किसी भी तरह की गड़बड़ी ना हो. फिलहाल भाजपा भी इस चुनाव को जीत कर अपनी ताकत का अहसास कराना चाहती है.

Show More

Ramanuj Bhatt

रामअनुज भट्ट तकरीबन 15 सालों से पत्रकारिता में हैं। इस दौरान आपने दैनिक जागरण, जनसंदेश, अमर उजाला, श्री न्यूज़, चैनल वन, रिपोर्टर 24X7 न्यूज़, लाइव टुडे जैसे सरीखे संस्थानों में छोटी-बड़ी जिम्मेदारियों के साथ ख़बरों को समझने/ कहने का सलीका सीखा।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button