उत्तर प्रदेशलखनऊसियासत-ए-यूपी

मुलायम सिंह ने कवि कुमार विश्वास को दिया सपा में शामिल होने का ऑफर

लखनऊ। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव मंगलवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में सपा नेता रामगोपाल यादव की पुस्तक ‘राजनीति के उस पार’ के विमोचन कार्यक्रम में मौजूद थे। इसमें कवि कुमार विश्वास, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव व अलग-अलग राजनीतिक दलों के लोग मौजूद थे। सभी ने अपना संबोधन दिया।

इसी दौरान मुलायम सिंह ने कवि कुमार विश्वास से कहा कि अगर वो किसी दल में नहीं हैं तो समाजवादी पार्टी में आ जाएं। ये बात मुलायम ने वरिष्ठ कवि उदय प्रताप के कान में कही। जिसे उदय प्रताप ने सभी को मंच से बता दिया। इसे सुनते ही पूरा हॉल ठहाकों से गूंज उठा। कुमार विश्वाास ने अपने भाषण में कहा था कि मैं भी राजनीति में आया पर मेरे साथ वाले आगे बढ़ गए और अब मैं किसी भी दल में नहीं हूं जिस पर मंच पर बैठे मुलायम ने कुमार को सपा में शामिल करने की बात कवि उदय प्रताप से कही।

मुलायम सिंह ने अपने भाषण में कहा कि आपसी एकजुटता से ही देश व समाज का विकास होता है। जब-जब चुनौती आई है सभी एकजुट हुए हैं। समाज का हर एक वर्ग एकजुट हो तभी विकास संभव हो पाता है। वह सपा नेता रामगोपाल यादव की पुस्तक ‘राजनीति के उस पार’ के विमोचन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि देश में महंगाई और किसानों के मुद्दों के सवालों पर एकजुट हों। देश के सवाल को लेकर आगे बढ़ें। संकल्प लें ताकि अमन चैन कायम हो। देश से बड़ा कोई नहीं है। युवा इसी तरह एकजुट रहें तभी कल्याण होगा। उत्तर प्रदेश का बहुत महत्व है। यूपी से ही देश समाज की तस्वीर बदलेगी।

मुलायम ने किया विपक्ष से एकजुट होने का आवाहन

समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने मंहगाई, बेरोजगारी ओर भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्ष की एकजुटता का आह्वान करते हुये कहा कि जब जब देश पर कोई चुनौती आयी है तब तब सब एक हुये हैं। मुलायम सिंह ने मंगलवार को यहां पार्टी के महासचिव और राज्यसभा सांसद प्रो रामगोपाल यादव की पुस्तक ‘राजनीति के उस पार’ के विमोचन समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि देश के सामने जब कोई भी चुनौती आई है, तब सब एक साथ खड़े हुए हैं। मंहगाई और भ्रष्टाचार के खिलाफ पूरा देश खड़ा है। आज यहां सारा देश बैठा है,हम चाहते हैं कोई भी विषय हो, इसी तरह सब एक साथ बैठकर समाधान निकालें।

हालांकि इस दौरान कार्यक्रम में मौजूद आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता और लोकप्रिय कवि कुमार विश्वास को सपा में शामिल होने की भी मुलायम सिंह ने पेशकश कर दी। कुमार विश्वास अपने संबोधन के बाद जब अपने स्थान पर लौटे तो वयोवृद्ध समाजवादी नेता मुलायाम सिंह ने उनकी पीठ थपथपा कर उनके कान में कुछ कहा। वरिष्ठ सपा नेता उदय प्रताप सिंह ने मंच से अपने संबोधन में इसका खुलासा करते हुये बताया कि ‘नेता जी मुझसे कह रहे थे अगर कुमार विश्वास कहीं किसी दल में नही हैं, तो सपा में उनका स्वागत है। इस अवसर पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी, आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह, राजद के मनोज झा और सपा के पूर्व सांसद जावेद अली खान सहित अन्य दलों के दिग्गज नेता मौजूद रहे।

समारोह की अध्यक्षता कर रहे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रो यादव की तारीफ करते हुए कहा कि, उनकी यह पुस्तक मौजूदा पीढ़ी ही नहीं भावी पीढिय़ों के लिये भी राजनीति मूल्यों की राह दिखाने वाली साबित होगी। कुमार विश्वास ने भी मंच से अखिलेश यादव और मुलायम सिंह की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि ‘‘हम कवियों का अगर सबसे ज्यादा किसी ने ख्याल रखा है तो इन समाजवादी नेताओं ने।” वहीं पुस्तक के लेखक रामगोपाल यादव ने कहा कि संघर्ष के बिना सृजन नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि आज वह जो कुछ भी हैं वह नेता जी के कारण ही हैं।

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button