उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊसियासत-ए-यूपी

यूपी में हाथी को छोड़कर साइकिल पर सवार हुए BSP के छह विधायक, BJP का एक विधायक भी सपा में शामिल

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले आज समाजवादी पार्टी ने बहुजन समाज पार्टी और राज्य की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका दिया है. आज बीएसपी के 6 निलंबित और बीजेपी के एक विधायक ने एसपी की सदस्यता दी. इन सभी विधायकों ने एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ली. नेताओं को पार्टी में शामिल कराने के बाद अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य की जनता में बीजेपी के खिलाफ इतना गुस्सा है कि आने वाले समय में बीजेपी का राज्य से सफया हो जाएगा.

अखिलेश यादव ने कहा कि ऐसे कई लोग हैं जो एसपी में आने चाहते हैं. लेकिन वह इंतजार कर रहे हैं और आने वाले समय में तस्वीर साफ हो जाएगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में किए वादों को पूरा नहीं किया है. बीजेपी ने वादा किया था 2022 तक किसानों की संख्या दोगुनी कर दी जाएगी. लेकिन आज किसान जानना चाहता है कि किसानों की आय कब दोगुनी होगी. देश में महंगाई बढ़ गई और जरूरी सामान महंगे हो गए हैं.

बीजेपी ने संकल्प पत्र के वादे पूरे नहीं किए

एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी ने घोषणा पत्र को अगर देखें तो इसमें से एक भी वादा सरकार ने पूरा नहीं किया है. बीजेपी ने कहा था कि वह अधिकतम मूल्य पर धान खरीदेगी. लेकिन उत्तर प्रदेश के किसान का धान नहीं खरीदा जा रहा है. जिसके कारण किसान परेशाना है और आंदोलन कर रहा है. अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वादा किया था कि झांसी और मथुरा में मेट्रो का निर्माण कार्य शुरु किया जाएगा. लेकिन कहीं भी मेट्रो का काम शुरू नहीं किया.

बीएसपी के छह और बीजेपी का एक विधायक हुआ एसपी में शामिल

आज एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में बीएसपी के छह विधायकों और एक बीजेपी के विधायक ने पार्टी की सदस्यता दी. बीजेपी के सीतापुर से विधायक राकेश राठौर एसपी में शामिल हो गए हैं. जबकि बीएसपी के विधायक असलम राणा (भिंगा-श्रावस्ती),असलम अली चौधरी (ढोलाना-हापुड़), मुज्तबा सिद्दीकी (प्रतापपुर-इलाहाबाद),हकीम लाल बिंद (हंडिया-प्रयागराज), हरगोविंद भार्गव (सिधौली-सीतापुर) और सुषमा पटेल (मुंगरा बादशाहपुर) समाजवादी पार्टी में शामिल हुई हैं.

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button