उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पांच जिलों ने आज से बंद होगी गंगा जल की सप्लाई, जानें क्या है कारण

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पानी की समस्या पैदा हो सकती है. असल में मेरठ समेत वेस्ट यूपी के प्रमुख जिलों में शुक्रवार आधी रात से गंगा नहर की सफाई के चलते हरिद्वार से गंगा जल की सप्लाई बंद कर दी जाएगी. जिसके कारण मेरठ, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, हापुड़, बुलंदशहर में गंगा जल की आपूर्ति बाधित रहेगी. वहीं पानी की समस्या को कम करने के लिए गंगा जल की जगह नगर निगम के ट्यूबवेल से पानी की सप्लाई की जाएगी. वहीं इसको लेकर नगर निगम का दावा है कि लोगों को पानी की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा.

दरअसल हर साल गंग नहर की सफाई की जाती है और इसके कारण अक्टूबर के महीने में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पानी गंगा जल की समस्या रहती है. क्योंकि बारिश के बाद गंग नहर में सफाई की जाती है. नहर गाद की सफाई के लिए हर साल 15 अक्टूबर से गंगाजल की आपूर्ति बंद कर दी जाती है और इसकी के इस बार विजयादशमी की मध्यरात्रि से दीपावली की मध्यरात्रि तक बंदी का आदेश दिया गया है.

इन जिलों में गंगनहर से होती है सप्लाई

फिलहाल अधिशासी अभियंताओं ने जनप्रतिनिधियों व किसानों से नहरों की सिल्ट सफाई में सहयोग करने का अनुरोध किया है. गंग नहर से मेरठ, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर, हापुड़, बुलंदशहर आदि जिलों में गंगा जल की आपूर्ति की जाती है.

इन नंबरों पर करें शिकायत

वहीं नगर निगम द्वारा गंग नहर मेरठ मंडल और अनूपशहर शाखा के अधिशासी अभियंताओं ने बताया कि सिल्ट सफाई कार्य के लिए शुक्रवार आधी रात से गंगा जल की आपूर्ति बंद कर दी जाएगी. अधिकारियों का कहना है जल की आपूर्ति और गंगनहर की सफाई के संबंध में शासन के आदेश के तहत सूचना जारी की गई है. अगर किसी को कोई शिकायत है तो वह 2972867 के फोन नंबर 0121-2664976 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है.

नगर निगम का दावा, नहीं होगी पानी की समस्या

नगर निगम के जीएम जल कुमार गौरव ने बताया कि शुक्रवार रात से ही सभी ट्यूबवेल को चालू कर दिया जाएगा, ताकि विजयादशमी की आधी रात से कोई दिक्कत न हो. नगर निगम के सभी 157 ट्यूबवेल से पानी की आपूर्ति की जाएगी और नगर निगम प्रशासन पानी की कमी को पूरा करने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर टैंकरों को भी तैयार रखेगा.

Show More

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button