उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी से सियासत गरमायी, आगरा और सीतापुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने निकाला कैंडल मार्च

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा के गिरफ्तार होने के बाद से सियासत गरमायी हुई है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, नवजोत सिंह सिद्धू, पी. चिंदबरम और संजय राउत समेत कई नेताओं ने इस मुद्दे पर बीजेपी सरकार को घेरा है. वहीं, आगरा और सीतापुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार शाम कैंडल मार्च निकाला और लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि दी.

सीतापुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मशाल जुलूस निकाला और प्रियंका गांधी को रिहा करने की मांग की. पीएसी गेट पर कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं, आगरा में कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया. संजय प्लेस स्थित शहीद स्मारक पर कांग्रेसियों ने कैंडल जला कर मौन विरोध किया. आगरा में कांग्रेसियों ने भाजपा सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार किसान विरोधी है औऱ लोकतंत्र की आवाज दबा रही है. कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी पर तीखा रोष व्यक्त किया.

बता दें, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को धारा-144 के उल्लंघन पर गिरफ्तार किया गया है. उन पर धारा 151, 107 और 116 के तहत केस दर्ज किया गया है. प्रियंका गांधी को सीतापुर के पीएमसी गेस्ट हाउस में गिरफ्तार करके रखने की खबर आई थी. रविवार को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद प्रियंका गांधी तिकुनिया गांव जाने के लिए निकली थीं. लेकिन, उन्हें सीतापुर में हिरासत में ले लिया गया था.

गौरतलब है कि रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया इलाके में भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद से किसान जहां गुस्से में हैं वहीं अन्य पार्टियां भाजपा सरकार पर हमलावर हैं. प्रियंका गांधी भी लगातार बीजेपी सरकार पर हमलावर हैं और घटना स्थल पर जाने की मांग कर रही हैं, लेकिन प्रशासन उन्हें वहां जाने की इजाजत नहीं दे रहा है.

हरगांव थाने में प्रियंका गांधी, हरियाणा के राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, अमेठी के एमएलसी दीपक सिंह, संदीप, राजकुमार, नरेंद्र शेखावत, धीरज गुर्जर, योगेंद्र, अमित और हरिकांत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. यह कार्रवाई एसओ बृजेश त्रिपाठी की तहरीर पर की गई है.

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा का कहना है, मैंने सोशल मीडिया पर एक पेपर का एक हिस्सा देखा है, जिसमें उन्होंने 11 लोगों का नाम लिया है. इसमें से 8 लोग उस समय मौजूद नहीं थे, जब मुझे गिरफ्तार किया गया था. वास्तव में, इसमें उन 2 व्यक्तियों का नाम भी शामिल है, जो 4 अक्टूबर को लखनऊ से मेरे कपड़े लाए थे.

Show More

Ramanuj Bhatt

रामअनुज भट्ट तकरीबन 15 सालों से पत्रकारिता में हैं। इस दौरान आपने दैनिक जागरण, जनसंदेश, अमर उजाला, श्री न्यूज़, चैनल वन, रिपोर्टर 24X7 न्यूज़, लाइव टुडे जैसे सरीखे संस्थानों में छोटी-बड़ी जिम्मेदारियों के साथ ख़बरों को समझने/ कहने का सलीका सीखा।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button