Khabri Adda
खबर तह तक

अमेठी में चरितार्थ होती राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की ये पंक्तियां “अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी … आँचल में दूध और आँखों में पानी”।

क्या यही मिशन शक्ति अभियान का असर है?

0

सरकार महिलाओं के उत्थान के लिए तमाम तरह के उपाय भले ही कर रही हो लेकिन महिलाओं के ऊपर अत्याचार कम होने का नाम नहीं ले रहे । इस पर राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की की चंद पंक्तियां यथार्थ प्रतीत हो रही है की अबला जीवन हाय तुम्हारी यही कहानी … आँचल में दूध और आँखों में पानी। इसमें सबसे बड़ी बात तो यह है की मिशन शक्ति जैसे अभियान को चलाने की जिनके कंधों पर जिम्मेदारी है वही कंधे महिलाओं के परेशानियों में साथ नहीं देते हैं। जी हां हम बात कर रहे हैं अमेठी पुलिस की जहां पर सदर कोतवाली गौरीगंज की पुलिसिया कार्यशैली से तंग और न्याय के लिए भटक रही महिला आज रोते हुए राज्य महिला आयोग की सदस्य अनीता सचान के पास पहुंच कर अपनी आपबीती रोते हुए बताया। आपको बताते चलें कि राज्य महिला आयोग की सदस्य अनीता सचान 17 और 18 मार्च को अपने दो दिवसीय अमेठी दौरे पर हैं इस दौरान 17 तारीख को अमेठी पहुंच कर उन्होंने लोक निर्माण विभाग स्थित गेस्ट हाउस में बैठकर पीड़ितों की समस्या सुनी। पीड़ित महिला सुशीला का कहना है की जमीनी विवाद को लेकर उसके ही परिवार के लोगों ने उसके पति बच्चों सहित उसको घसीट घसीट कर पीटा। इस बात को लेकर महिला सुशीला जब स्थानीय कोतवाली गौरीगंज पहुंची । तब काफी अनुनय विनय के बाद पुलिस ने उसकी तरफ से मुकदमा तो दर्ज कर लिया । लेकिन उसके बाद 3 दिन हो गए आज तक पुलिस उसके घर तक देखने भी नहीं गई। पुलिस के द्वारा कोई सुनवाई नहीं की जा रही है पट्टीदारों द्वारा की गई मारपीट का वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। पीड़ित महिला की व्यथा सुनने के बाद राज्य महिला आयोग की सदस्य अनीता सचान ने पुलिस से बात कर तत्काल कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More