खबर तह तक

अन्य जिलों में जहां में दिन की शुरुआत चाय की प्याली के साथ होती है तो अमेठी जिले में पिछले 2 दिनों से दिन की शुरुआत हत्या की खबरों के साथ हो रही है।

केंद्रीय मंत्री व अमेठी सांसद के आने के चंद घंटों पूर्व व जाने के चंद घंटों बाद हुई दलित की हत्या से मचा हड़कंप।

 

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार भले ही अपराधों और अपराधियों पर लगाम लगाने की बात करती हो और नकेल कसने में लगी हुई हो लेकिन इसके बावजूद कहीं पर भी अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार ताबड़तोड़ हो रही हत्याओं ने प्रदेश और जनपद की कानून व्यवस्था को कटघरे में खड़ा कर दिया है। अपराधियों में पुलिस का कोई खौफ नहीं दिखाई पड़ रहा है । बेखौफ होकर अपराधी हत्या जैसे जघन्य वारदात को अंजाम देते हैं और पुलिस सिर्फ विधिक कार्यवाही के नाम पर खानापूर्ति करते हुए दिखाई पड़ती है। जी हां जहां पर अन्य जिलों में सुबह की शुरुआत चाय के साथ होती है वहीं पर दूसरी तरफ अमेठी जनपद में सुबह की शुरुआत हत्या की खबर से होती है। ऐसा लगता है कि अमेठी में दलित सुरक्षित नहीं है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अभी कल जिले के मुंशीगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत 10 वर्षीय मासूम दलित की गला रेत कर हत्या कर दी गई थी। मासूम दलित की हत्या के 24 घंटे भी नहीं बीतने पाया की दूसरे 22 वर्षीय दलित की गेहूं के खेत में गोली मारकर हत्या कर दी गई । इस बार यह हत्या जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत भावलपुर गांव में हुई है । बीते 24 घंटे के भीतर ताबड़तोड़ दो दलित हत्याओं से हड़कंप मचा हुआ है।

अन्य जिलों में जहां में दिन की शुरुआत चाय की प्याली के साथ होती है तो अमेठी जिले में पिछले 2 दिनों से दिन की शुरुआत हत्या की खबरों के साथ हो रही है।

कल अमेठी संसदीय क्षेत्र में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का दौरा था उनके दौरे में उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री और राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार भी शामिल हुए केंद्रीय मंत्री व अमेठी सांसद स्मृति ईरानी के दौरे से चंद घंटे पहले 10 वर्षीय मासूम दलित की गला रेत कर हत्या कर दी गई और जैसे ही दौरा समाप्त कर वह वापस लौटी उसके चंद घंटों के भीतर ही 22 वर्षीय दलित युवक को घर से बुलाकर गेहूं के खेत में ले जाकर सिर में गोली मारकर हत्या कर दी गई। अर्थात हम यह कह सकते हैं कि अमेठी सांसद के आगमन और विदाई की सलामी दलित की हत्या से ही दी गई है । यह पूरा मामला अमेठी जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सभा भावलपुर का है जहां पर निवास करने वाले महाराजदीन कोरी का 22 वर्षीय पुत्र अजीत उर्फ स्वप्निल कोरी घरवालों के साथ शाम का खाना पीना खाकर लेटा किंतु रात्रि में कब क्या और कैसे हुआ यह किसी को नहीं मालूम सुबह जब पिता शौच के लिए खेतों में गए तो खेत में स्वप्निल कोरी की लाश देखकर हतप्रभ रह गए। उन्होंने देखा कि स्वप्निल के सिर में सटाकर गोली मारी गई है । जिससे उसके सिर के चिथड़े उड़े हुए हैं। घटना जंगल की आग की तरह पूरे इलाके में फैल गई । घर वालों का रो रो कर बुरा हाल हो गया । सूचना पर पहुंची इलाकाई पुलिस ने लाश का मुआयना करते हुए जांच में जुट गई तथा लाश का पंचायत नामा कर बड़ी मशक्कत के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है । बताया जा रहा है कि स्वप्निल कोरी इंटरमीडिएट में पढ़ने वाला छात्र था और बहुत ही सीधा साधा था। उसकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी ऐसे में उसकी हत्या क्योंकि गई यह अभी रहस्य बना हुआ है । हालांकि उसका मोबाइल भी नहीं मिल पाया है मोबाइल मिल जाने के बाद ही हत्या के कारणों का कुछ सुराग लग पाएगा। फिलहाल घटना की गंभीरता को देखते हुए घटनास्थल पर पुलिस क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर उप जिलाधिकारी महात्मा सिंह के साथ पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने पहुंचकर मुआयना किया और पुलिस कर्मियों को यथावश्यक दिशा निर्देश दिए। मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना का कारण अज्ञात है यह विवेचना का विषय है कि वह घर से कब निकले? और कैसे यह घटना हुई? फिलहाल परिजनों की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत करते हुए आगे की कार्यवाही की जा रही है। घटना की तहकीकात हेतु टीमें लगा दी गई है शीघ्र ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

 

अन्य जिलों में जहां में दिन की शुरुआत चाय की प्याली के साथ होती है तो अमेठी जिले में पिछले 2 दिनों से दिन की शुरुआत हत्या की खबरों के साथ हो रही है।

 

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More