खबर तह तक

5 मिनट की देरी करना, 20 कर्मचारियों को पड़ा महंगा।।

डीएफओ सहित 20 अधिकारी संपूर्ण समाधान दिवस में पाए गए अनुपस्थित।

लोकेश त्रिपाठी – उच्चाधिकारियों द्वारा निर्देशित किए जाने के बावजूद सरकारी नुमाइंदों की लेटलतीफी उस समय महंगी पड़ गई जब जिलाधिकारी अमेठी अरुण कुमार संपूर्ण समाधान दिवस में शरीक होने के लिए सुबह लगभग 10:05 पर ही पहुंच गए । उस समय अमेठी तहसील के कई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे थे । जिस पर नाराजगी जाहिर करते हुए जिलाधिकारी महोदय ने तत्काल उपस्थिति रजिस्टर मंगाकर तहसील में कार्यरत सभी अधिकारियों की उपस्थिति का अवलोकन किया । जिसके पश्चात यह पता चला कि लगभग 20 कर्मचारी पहुंचे ही नहीं हैं। जिस अनुपस्थित पाये गए अधिकारियों में प्रभागीय वनाधिकारी, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत, जिला कृषि अधिकारी, अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड प्रथम, अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, अधिशासी अभियंता शारदा सहायक खंड 41, सहायक महा निरीक्षक स्टाम्प, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी, जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी, परियोजना अधिकारी नेडा, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, जिला उद्योग अधिकारी, सहायक श्रम आयुक्त, जिला खादी ग्राम उद्योग अधिकारी, जिला क्रीड़ा अधिकारी, जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक तथा मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी के अनुपस्थित पाए जाने पर 1 दिन का वेतन रोकने व स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए। संपूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने कहा कि शासन जनसामान्य की समस्याओं को लेकर अत्यंत गंभीर है जन सामान्य की शिकायतों के निस्तारण में किसी भी स्तर पर लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने संपूर्ण समाधान दिवस में संबंधित अधिकारियों को भविष्य में समय से उपस्थित होने के निर्देश दिए। जिस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी महोदय ने सभी कर्मचारियों का 1 दिन का वेतन रोकते हुए उनको स्पष्टीकरण देने के लिए निर्देशित किया । इसके उपरांत संपूर्ण समाधान दिवस की कार्यवाही शुरू की गई जिसमें फरियादियों के द्वारा पहुंचकर सभी जिला स्तरीय अधिकारियों के सम्मुख अपनी समस्याओं को अवगत कराया गया । जिस पर जिला स्तरीय अधिकारियों ने संबंधित अधिकारियों को त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए । इस मामले में जिला अधिकारी अमेठी अरुण कुमार ने बताया कि आज के संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर लगभग 80 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए हैं । जिसमें लगभग 10 टीमें बना दी गई है जो मौके पर जा रही हैं । उन टीमों को आज ही समस्याओं का समाधान करने का निर्देश दिया गया है । इसके साथ ही उप जिला अधिकारी अमेठी को निर्देशित किया गया है कि जो भी शिकायतें हैं उनका गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें । जिससे शिकायतकर्ता संतुष्ट हो सके । आज के इस संपूर्ण समाधान दिवस में भूमि विवाद संबंधी शिकायतें ज्यादा प्राप्त हुई हैं । इसी के साथ मतदाता सूची को लेकर तमाम शिकायतें प्राप्त हुई हैं । जिस में अनावश्यक रूप से नाम जोड़ा गया है अथवा घटा दिया गया है । उसमें अलग से निर्देशित किया गया है भूमि विवाद में पुलिस तथा राजस्व की संयुक्त टीम बनाकर निस्तारण किया जाए । मतदाता सूची में शिकायत के निस्तारण हेतु सभी बीएलओ को इस बात के लिए निर्देशित किया गया है कि वह अगले 10 दिन तक अपने अपने क्षेत्र में रुके । जिस का निरीक्षण एसडीएम के द्वारा भी किया जाए । जो शिकायतें संपूर्ण समाधान दिवस अथवा अन्य माध्यमों से प्राप्त होती हैं उनका निस्तारण वही किया जाए और उसमें पुलिस बल का भी सहयोग लिया जाए । कई बार ऐसी शिकायतें मिलती हैं कि किसी के दबाव में आकर बीएलओ सही काम नहीं कर पा रहा है । इसके लिए पुलिस को भी निर्देशित किया गया है कि वह टीम बनाकर वहां भी जाए और ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके ऊपर कार्यवाही करें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More