खबर तह तक

अमेठी कोतवाली में विभिन्न बैंकों के ग्राहक सेवा केंद्रों के संचालकों को किया गया जागरूक।

0

लोकेश त्रिपाठी – अमेठी पुलिस भले अपराधियों पर लगाम न लगा पा रही हो और अपराधियों को पकड़ने में नाकाम हो। लेकिन वह बीजेपी सरकार के द्वारा लगातार कहे जा रहे आत्मनिर्भर की बातों के पालन कराने के लिए प्रयास अवश्य कर रही है । जी हां आपको बता दें कि अभी 2 दिन पहले अमेठी जनपद मुख्यालय गौरीगंज कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत बाबूगंज में एक बैंक ऑफ बड़ौदा की फ्रेंचाइजी चलाने वाले ग्राहक सेवा केंद्र से बाइक सवार तीन बदमाशों ने तमंचे के बल पर ग्राहक सेवा केंद्र में घुसकर लगभग ₹95000 की लूट कर मौके से फरार हो गए। दिनदहाड़े इस तरह की घटना को अंजाम देने वाले बेखौफ अपराधियों की तलाश में अमेठी पुलिस लगी हुई है । लेकिन 48 घंटे बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस के हाथ खाली है । लेकिन इस तरह की घटना से बचने के लिए अमेठी पुलिस ऐसे ग्राहक सेवा केंद्र के संचालकों को आत्मनिर्भर बनाने में जुट गई है। जिसके तहत अमेठी कोतवाली में तहसील के सभी सीएसपी संचालकों को बुलाया गया और इनको समझाने तथा बताने के लिए अमेठी कस्बा स्थित भारतीय स्टेट बैंक के ब्रांच मैनेजर को बुलाकर गेस्ट लेक्चर कराया गया। जिसमें यह बताया गया कि आप लोग अपना केबिन बनवा लें विंडो से ही लेनदेन करें और अपने ग्राहक सेवा केंद्र पर हूटर तथा सीसी कैमरा जरूर लगवा ले। जिससे इस तरह की घटना से बचा जा सके लेकिन क्या इससे किसी प्रकार की रक्षा हो पाएगी ? यह बड़ा सवाल है क्योंकि जिस तरह से बेखौफ अपराधियों को किसी भी चीज का भय नहीं रह गया है तो उनके लिए यह सारी व्यवस्थाएं बिल्कुल ऊंट के मुंह में जीरे के समान है।

भारतीय स्टेट बैंक अमेठी ब्रांच के मैनेजर आशीष त्रिपाठी ने बताया कि मुख्य रूप से इन लोगों से मेरी सिक्योरिटी प्वाइंट आफ व्यू से बात हुई जो इन लोगों के कैश काउंटर वगैरह है। जैसे हम लोगों के यहां हैवी स्टील काउंटर होता है वैसे यहां भी होना चाहिए । जो भी लेनदेन हो वह काउंटर के विंडो के द्वारा ही होना चाहिए । बाकी अंदर से ही बैठकर हैवी पेमेंट करें । इन सभी फ्रेंचाइजी को यह सलाह दी जाती है कि वह बैंक से लिमिटेड अमाउंट ही ले आएं । वह खत्म हो जाए तो पुनः बैंक से जाकर और धनराशि प्राप्त करें और शाम को जो धनराशि बचे उसको बैंक में जमा भी कर दें । इसी के साथ जब भी पैसा लेने जाएं तब किसी को पता ना चले कि हम पैसा लेने जा रहे हैं। जो भी पेमेंट हो वह सब गोपनीय रहना चाहिए । यदि बैंक से पेमेंट लेने आ रहे हैं अथवा जमा करने आ रहे हैं वह सभी बातें गोपनीय रहनी चाहिए । इसी के साथ अपने फ्रेंचाइजी पर सीसी कैमरा इंस्टॉल करा ले और उसका डीवीआर सुरक्षित जगह पर रखें। जिससे कोई भी व्यक्ति डीवीआर लेकर भाग ना सके। इसी के साथ एक हिडेन कैमरा भी लगाकर रखें। इस तरह से हम लोग करेंगे तो सेफ रहेगा इससे अप्रिय घटना होने के चांसेज कम हो जाएंगे।

फ़्रेंचाइजी चलाने वाले हरकेश विश्वकर्मा ने बताया कि अभी हाल में ही एक फ्रेंचाइजी चलाने वाले के साथ एक घटना हुई थी। जिसके परिपेक्ष में आज हम लोगों को यहां पर कुछ जानकारी देने के लिए बुलाया गया है । यहां पर भारतीय स्टेट बैंक शाखा अमेठी के प्रबंधक तथा अमेठी के कोतवाल महोदय ने हम लोगों को बुलाया । इसी के साथ हम लोगों को दिशा निर्देश देते हुए बताया कि जो भी फ्रेंचाइजी संचालक है । उनको एक केबिन बनवा कर रजिस्टर मेंटेन करके तथा जो हूटर है उसकी व्यवस्था कर इस तरह की घटनाओं को रोका जा सकता।

 

वहीं पर सतेंद्र मिश्रा ने बताया कि आज यहां अमेठी कोतवाली में तहसील क्षेत्र में जितने भी सीएसपी ग्राहक सेवा केंद्र संचालित हैं । उनके संचालकों को बुलाया गया उन को सुरक्षित रखने का सुझाव दिया गया जैसा कि गौरीगंज के बाबूगंज में एक सीएसपी संचालक के साथ लूट की गई। उसी के दृष्टिगत आज बैठक की गई थी। इसमें हम लोगों से सीसी कैमरा तथा हूटर लगाने के लिए कहा गया। आज जो बताया गया इससे हम लोगों को काफी लाभ होगा। जिस तरह से हम लोग खुले में बैठे हैं उससे काफी सुरक्षित हो जाएंगे । जब कैमरा लग जाएगा तो हम लोगों की बचत होगी और बदमाशों में इस बात का डर बन जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More