खबर तह तक

वाह ! अमेठी कोतवाली और एसओजी पुलिस।

0

लोकेश त्रिपाठी – अमेठी – पुलिस अगर चाह ले तो देश का कोना कोना दुरुस्त हो सकता है। क्योंकि जब भी वह अपने पर आती है तो बड़े बड़े अपराधियों की खैर नहीं होती ऐसा ही एक मामला अमेठी में देखने को मिला जहां पर पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह के निर्देश पर जिले में जहरीले एवं नशे का व्यापार करने वालों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के क्रम में मुखबिर खास से प्राप्त सूचना पर एसओजी प्रभारी विनोद यादव एवं उनकी टीम के साथ कोतवाली अमेठी प्रभारी श्याम सुंदर तथा उनकी टीम ने मिलकर संयुक्त रूप से भारी मात्रा में अवैध नकली शराब बरामद किया है ।

जिसमें 71 ड्रम व 232 पेटियों में कुल 6336 सीसी अर्थात कुल 5568 लीटर के साथ 1850 खाली सीसी, 1350 रैपर, 1355 बारकोड, 6 डिब्बी कलर, 1750 ढक्कन, 75 खाली गत्ते, दो बंडल सेलो टेप, 3 किलो 200 ग्राम यूरिया 1 बोलेरो गाड़ी UP44 Z0019, 1 अपाचे मोटरसाइकिल UP 36 C 2627 सहित 5 अंतर्जनपदीय अवैध शराब सप्लायर को गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाही करते हुए भेजा जा रहा है जेल। पकड़े गए शराब की कुल कीमत 19 लाख 48 हजार 800 बताई जा रही है। पकड़े गए पांचों अभियुक्तों में से चार अभियुक्त अमेठी थाना क्षेत्र के ही रहने वाले हैं जबकि पांचवां पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ के सांगीपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला है।

जी हां आपको बता दें कि पुलिस उपाधीक्षक अमेठी पीयूष कांत राय के कुशल नेतृत्व में अवैध अपमिश्रित शराब की बिक्री के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के क्रम में 2 सितंबर को प्रभारी निरीक्षक अमेठी कोतवाली श्याम सुंदर अपने हमराहियों के साथ तथा विनोद यादव प्रभारी एसओजी अपनी टीम के सहित मुखबिर खास के द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर देवरी बॉर्डर के पास से अभियुक्त शुभम अग्रहरी (ड्राइवर) व रमेश अग्रहरि को एक बोलेरो UP 44 Z 0019 के साथ गिरफ्तार कर लिया। जब वाहन की तलाशी ली गई तो उसमें से 100 पेटी में 48 सौ सीसी से कुल 960 लीटर अवैध अपमिश्रित शराब बरामद हुई। पूछताछ में अभियुक्त रमेश अग्रहरि ने बताया कि मेरे कई पार्टनर हैं और शुभम के घर इसका अवैध कारखाना चलता है ।

जब दोनों को लेकर शुभम अग्रहरी के घर चतुर्भुजपुर पुलिस वाले पहुंचे तो वहां पर फैक्ट्री नुमा कारखाना से 3 अभियुक्त राजेश अग्रहरि, नगेंद्र कुमार और अर्जुन वर्मा को गिरफ्तार किया गया । घर की छत पर खड़े तीन अभियुक्त ने जान से मारने की नियत से पुलिस पर फायर कर दिया । जब उन्हें घेरकर पकड़ने का प्रयास किया गया तो खेत और जंगल का फायदा उठाकर भाग निकले । पूछताछ में फरार अभियुक्तों का नाम भीमसेन सिंह उर्फ राजू आशीष गुप्ता व राजेश जयसवाल बताया गया।

कारखाने से 132 पेटी में कुल 15 से 36 सीसी अर्थात 307 लीटर अवैध शराब प्लास्टिक कंटेनर में कुल 35 लीटर अवैध शराब 5 दिन में कुल 1000 लीटर अवैध शराब 1350 नकली रैपर वाह अरेंज 1355 बारकोड ऑरेंज ब्रांड की 6 डिब्बी कलर अट्ठारह सौ पचास खाली सीसी 1750 ढक्कन 75 खाली गत्ते, 2 बंडल सेलो टेप, 3 किलो 200 ग्राम यूरिया खाद के साथ एक अदद अपाचे मोटरसाइकिल जिसका नंबर यूपी 36 सी 26 27 बरामद हुई ।

पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि इस अवैध धंधे का मालिक व सप्लायर भीमसेन सिंह है । हम लोग मिलकर अवैध अपमिश्रित शराब तैयार करते हैं । शराब की तीव्रता बढ़ाने के लिए यूरिया भी मिलाते हैं तथा प्लास्टिक की शीशी में भरकर असली जैसा रैपर लगाकर सुल्तानपुर व प्रतापगढ़ ले जाकर भीमसेन सिंह उसे बेचता है। इस प्रकार पकड़े गए कुल शराब शराब की कुल कीमत 19 लाख 48 हजार 800 रुपए आंकी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More