अमेठीउत्तर प्रदेशताज़ा ख़बर

बीमारी पर आस्था भारी ।

लोकेश त्रिपाठी अमेठी-

आने वाले भक्तों का हाथ सैनिटाइज करते हुए पीठाधीश्वर श्री महाराज

लॉक डाउन वन के प्रथम दिन से अर्थात 25 मार्च से कोरोना महामारी के चलते पूरे देश को लॉक डाउन कर दिया गया जिसमे मंदिर मस्जिद सहित सभी धार्मिक स्थल बंद कर दिए गए किंतु लॉक डाउन 5 अथवा अनलॉक 1 में 8 जून से सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन का पालन करते हुए शॉपिंग मॉल सहित विभिन्न धार्मिक स्थल आम जनता के लिए खोल दिए गए जिसको लेकर हमारे संवाददाता ने अमेठी जिले के प्रसिद्ध पौराणिक मंदिर मां कालिकन धाम का जायजा लिया जहां पर उन्होंने देखा की बीमारी पर आस्था भारी है। मंदिर के गेट पर ही साबुन पानी के साथ सैनिटाइजर रखा हुआ है लेकिन आने जाने वाले लोग सीधे प्रवेश कर जाते थे । हालांकि सरकार की गाइडलाइन के अनुसार यहां पर व्यवस्थाएं तो दिखी लेकिन उसका अनुपालन होता नहीं दिखा।

श्री महाराज – पीठाधीश्वर मां कालिकन धाम

मंदिर के पीठाधीश्वर श्री महाराज ने बताया कि अंदर पुजारी नहीं बैठे हैं। लोग आ रहे हैं और अपने आप फूल माला प्रसाद चढ़ा कर वापस चले जा रहे हैं। मंदिर में लगी मूर्ति एवं धार्मिक ग्रंथों को स्पर्श करने की अनुमति नहीं है। इसे छू भी नहीं रहे हैं तथा घंटे इत्यादि को नहीं बजाया जा रहा है।

मंदिर में एक साथ पांच से अधिक प्रवेश करते श्रद्धालु

लेकिन वहीं पर एक साथ तमाम लोग मंदिर में प्रवेश करते नजर आए। जो 5 लोगों की बात कही गई थी उस पर किसी भी प्रकार का अमल नहीं हो पा रहा है। हालांकि संग्रामपुर थाना क्षेत्र के पुलिसकर्मी मंदिर परिसर में तैनात नजर आए। लेकिन इन लोगों के द्वारा भी मंदिर में 5 से अधिक लोगों को जाने से नहीं रोका जा रहा है। यहां पर पुलिस प्रशासन भी मूकदर्शक की भूमिका में नजर आई। वहीं पर लोगों का मानना है कि 75 दिनों के बाद आज मंदिर खुला हुआ है। मां का दर्शन मिल रहा है यह परम सौभाग्य की बात है । हम लोग बहुत दिनों से परेशान थे आज मां का दर्शन हो गया इसका वर्णन शब्दों में नहीं किया जा सकता है।

मां का दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालु राजेश मिश्रा

वहीं पर दर्शन करने आए श्रद्धालु राजेश मिश्रा ने बताया कि यहां पर पुजारी महाराज के द्वारा सोशल  डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है लेकिन यह श्रद्धा की बात है। अभी तो बहुत ज्यादा भीड़ लगी है लेकिन आगे भीड़ बढ़ने पर सरकार को इस बात पर पुनर्विचार करना होगा क्योंकि मां से दूर नहीं रखा जा सकता है और कोरोना भी लगातार बढ़ रहा है ।माता रानी के पुण्य प्रताप से कोरोना ही नहीं बड़े-बड़े कष्ट दूर हो जाएंगे क्योंकि महामारी में देवी जाप कराया जाता है देवी के ही पुण्य प्रताप से कोरोना जैसी महामारी समाप्त हो जाएगी।

बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए गेट पर ही रखा गया पानी और साबुन

 

Lokesh Tripathi

पूरा नाम - लोकेश कुमार त्रिपाठी शिक्षा - एम०ए०, बी०एड० पत्रकारिता अनुभव - 6 वर्ष जिला संवाददाता - लाइव टुडे न्यूज़ चैनल एवं हिंदी दैनिक समाचारपत्र "कर्मक्षेत्र इंडिया" उद्देश्य - लोगों को सदमार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करना। "पत्रकारिता सिर्फ़ एक शौक" इच्छा - "ख़बरी अड्डा" के माध्यम से "कलम का सच्चा सिपाही" बनना।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button