उत्तर प्रदेशफ़र्रूख़ाबाद

मुख्तार अंसारी के चक्कर में ही समाजवादी पार्टी से हुआ विघटन: शिवपाल यादव

फर्रुखाबाद: जिले में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सपा में रहने के दौरान मैंने मुख्तार के दो भाइयों को टिकट देने का विरोध किया था. हमने पहले भी मुख्तार अंसारी को टिकट नहीं दिया था. वो समाजवादी पार्टी में विघटन का कारण बन गए थे. प्रसपा में किसी भी अपराधी को टिकट नहीं मिलेगा, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी में किसी अपराधी की जगह नहीं है.

शहर के बढ़पुर स्थित एक होटल में प्रेस वार्ता में प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा कि उनकी पार्टी ने आगामी विधान सभा चुनाव लड़ने की पूरे प्रदेश में तैयारी शुरू कर दी है. वह पहले सेकुलर पार्टियों से गठबंधन की बात करेंगे. उसके बाद प्रत्याशी घोषित करेंगे लेकिन सपा उनकी पहली प्राथमिकता होगी. वहीं उन्होंने नाम लिए बिना अखिलेश की तरफ इशारा किया कि पहले उनकी पार्टी को 350 सीटें मिल रहीं थी, अब 400 सीटें मिल रही है. लगता है उन्हें हमारी जरूरत ही नहीं है.

उन्होंने कहा कि सपा से प्रसपा का केवल गठबंधन ही होगा, विलय की सम्भावना नहीं है. लिहाजा उनके सम्मान से पहले उनकी पार्टी के जिताऊ उम्मीदवारों को टिकट मिले और जिन सीटों पर उन्होंने प्रत्याशी घोषित कर दिये हैं. उनको किसी भी कीमत पर हटाया नहीं जायेगा. यही शर्त होगी. उन्होंने भोजपुर से प्रसपा से चुनाव की तैयारी कर रहीं अर्चना राठौर को प्रत्याशी बनाने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि अब गठबंधन करने वाले दल को यह सीट छोड़नी पड़ेगी.

उन्होंने कहा कि पूर्व में सपा सरकार के दौरान पहले भी मुख्तार के दो भाइयों को टिकट देने का विरोध किया था. तभी से सपा से उनका विघटन शुरू हो गया था. प्रसपा में किसी अपराधी की जगह नहीं है. शिवपाल सिंह यादव ने कहा पूरे कि प्रदेश में पहले कोरोना, डेंगू और मलेरिया के मरीजों की बाढ़ आ गयी है. अस्पतालों में घटिया किस्म की दवाएं वितरित की जा रही हैं. मरीज ठीक नहीं हो रहे हैं. उन्होंने यूपी में कानून व्यवस्था को बदहाल बताया और कहा कि प्रदेश में हत्या, लूट, अपहरण, चोरी व दुष्कर्म की संख्या कई गुना बढ़ गयी है. सरकार लगाम नहीं लगा पा रही है.

Show More

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button