अमेठीउत्तर प्रदेश

आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत बनने वाले गोल्डन कार्ड से जीना हुआ आसान।

अमेठी 31जुलाई-2021 जनपद के जिला कार्यक्रम समन्वयक डॉ अनूप तिवारी ने बताया कि प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना एवं आयुष्मान भारत का आयुष्मान कार्ड (गोल्डन कार्ड) आपकी जेब में है तो किसी भी आकस्मिक बीमारी में बिना वक्त गंवाए चिकित्सक आपको नया जीवन दे सकते हैं, क्योंकि कुछ आकस्मिक बीमारियों में एक-एक पल की बड़ी अहमियत होती है । यही कारण है कि केंद्र व प्रदेश सरकार वह हरसम्भव कदम उठा रही है कि पात्र लाभार्थियों का जल्द से जल्द आयुष्मान कार्ड बना दिया जाए ताकि उनको किसी भी आड़े वक्त में इलाज के लिए किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत न पड़े और न ही कर्ज लेकर इलाज के लिए विवश होना पड़े ।

उन्होनें बताया कि इसी को ध्यान में रखते हुए अब घर व गाँव के करीब शिविर लगाकर मुफ्त में आयुष्मान कार्ड बनाये जा रहे हैं । इसलिए अगर आप योजना के पात्र लोगों की सूची में हैं तो नौ अगस्त तक चलने वाले विशेष आयुष्मान पखवाड़े में आस-पास लगने वाले शिविर में जाकर मुफ्त में कार्ड बनवा सकते हैं ।

आयुष्मान भारत योजना देश में कमजोर वर्ग के लोगों को मुफ्त में सालाना पांच लाख रूपये तक की बीमा कवरेज मुहैया कराती है। यह दुनिया की सबसे बड़ी और पूरी तरह से सरकारी खर्च पर चलने वाली स्वास्थ्य बीमा योजना है । इसमें 1000 से ज्यादा कैंसर और दिल की बीमारी जैसी कई गंभीर बीमारियों के लिए प्रदेश में 2900 सूचीबद्ध सरकारी व निजी अस्पतालों में मुफ्त इलाज की सुविधा उपलब्ध है । जिस पात्र लाभार्थी के पास आयुष्मान कार्ड है वह छोटी से लेकर बड़ी बीमारियों तक का इलाज अस्पताल में भर्ती होकर करवा सकते हैं । बीमारी की स्थिति में सभी मेडिकल जांच, ऑपरेशन, इलाज व दवा का खर्च इसके तहत कवर होता है। अगर कोई व्यक्ति कार्ड बनने से पहले से बीमार है तो भी उसका इलाज इस योजना के अंतर्गत होगा।इन बीमारियों में मैटरनल हेल्थ और सी-सेक्शन या उच्च जोखिम प्रसव की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, कैंसर, टीवी, कीमोथेरपी, रेडिएशन थेरेपी, हार्ट बाईपास सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, दांतों की सर्जरी, आंखों की सर्जरी, एमआरआई, सीटी स्कैन, दिल की बीमारी, किडनी, लीवर, डायबीटीज, कोरोनरी बायपास, घुटना बदलना, स्टंट डालना, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित बीमारी आदि शामिल हैं। इसके साथ ही अस्पताल में एडमिट होने से पहले और बाद के खर्च भी इस हेल्थ बीमा में कवर किए जा रहे हैं ।

Show More

Lokesh Tripathi

लोकेश कुमार त्रिपाठी परास्नातक के साथ बीएड की डिग्री हासिल करने के उपरांत पत्रकारिता जगत में कूद पड़े। इससे पूर्व हिंदी टीवी न्यूज़ चैनल "ख़बर फ़ास्ट"में अपनी सेवाएं देने के बाद अद्यतन "लाइव टुडे टीवी न्यूज़ चैनल के "जिला संवाददाता-अमेठी" के रूप में भी कार्य कर रहे हैं। फ़िलहाल "ख़बरी अड्डा" से लेखन की दुनिया का नया अनुभव हासिल करते हुए "कलम के सच्चे सिपाही" का कर्तव्य निभा रहे हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button