Khabri Adda
खबर तह तक

अज्ञात बदमाशों ने की साधु की गला रेतकर हत्या

0
बुलंदशहरः जिले में होली के दिन निर्मम हत्या की खबर आने से सनसनी फैल गई. एक मंदिर के पुजारी की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी गई. घटना से गांव में आक्रोश है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है. पुलिस ने आशंका जताई है की गले पर निशान देखकर लग रहा है कि चाकू से गला रेता गया है. शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है.

शिकारपुर की घटना, चाकुओं से गोदकर हत्या

जिले के शिकारपुर क्षेत्र में गांव आंचरू कला है. गांव के श्मशान घाट पर अशोक कुमार (51) एक हफ्ते से रह रहे थे. वह श्मशान स्थित एक बाबा की समाधि पर पूजा-पाठ करते थे. ग्रामीणों के अनुसार अशोक कुमार ग्राम कैलावन थाना सलेमपुर के निवासी थे. होली के दिन सुबह करीब 7 बजे लोग बाबा की समाधि पर पहुंचे तो पुजारी अशोक का रक्तरंजित शव पड़ा था. इनकी गर्दन पर चोट व धारदार हथियार से गोदे जाने के निशान हैं.

झोपड़ी में लग चुकी है आग

उल्लेखनीय है कि कुछ महीनों पहले भी अशोक कुमार गांव में रहने आए थे. वह 1 जनवरी 2021 को शिकारपुर के मंडी के सामने स्थित रविदास मूर्ति के बगल में एक झोपड़ी में ठहरे हुए थे. उस दिन झोपड़ी में आग लगाई गई थी और एक खोखे वाले को फंसाने का प्रयास किया गया था. उस समय वहां पर सीसीटीवी कैमरे में अशोक कुमार अपनी झोपड़ी से निकलते हुए देखे गए थे. पुलिस खुद अपनी झोपड़ी में आग लगाने और दूसरे को झूठा फंसाने के आरोप में इनकी तलाश कर रही थी लेकिन यह लापता हो गए थे. करीब एक सप्ताह से यह ग्राम आंचरू कला के श्मशान घाट पर रहने लगे थे और वहां उसी मजार में रह रहे थे. वहां से लगभग 100 मीटर की दूरी पर इनका शव मिला है. यह भी जानकारी में आया कि यह शराब, मादक पदार्थ आदि के सेवन के आदि थे. अभियोग पंजीकृत कर वैधानिक कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है.

पहले भी हुई है साधुओं की हत्या

गौरतलब है कि इससे पहले भी बुलंदशहर के अनूपशहर इलाके में दो साधुओं की मंदिर परिसर में सोते वक्त धारदार हथियार से हमला करके हत्या कर दी गई थी.

हर पहलू पर होगी जांच

सीओ बिजेंद्र रस्तोगी और कोतवाल सुभाष सिंह मौके पर पहुंचे. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है. जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More