खबर तह तक

बीजेपी सांसद की बहू ने की आत्महत्या की कोशिश, काटी हाथ की नस

लखनऊ: बीजेपी सांसद के पुत्र व उनकी बहू के बीच का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. रविवार रात को सांसद की बहू अंकिता ने सांसद पुत्र पर कई आरोप लगाकर खुदकुशी करने का वीडियो जारी किया था. वहीं आधी रात बाद उसने आत्महत्या की कोशिश की. अस्पताल में भर्ती बहु के दाहिने हाथ में चार कट हैं. डॉक्टर उसकी हालत अब स्थिर बता रहे हैं.
भाजपा सांसद कौशल किशोर की बहु अंकिता ने रविवार को रात में सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल किया था. इसमें अंकिता ने पति आयुष पर गंभीर आरोप लगाए साथ ही खुदकुशी करने की बात कही. यह वीडियो देखकर पुलिस महकमे में भी हड़कंप मच गया. अंकिता ने एक-एक कर दो वीडियो वायरल किए. उसमें आयुष से बेपनाह प्यार, उस पर भरोसा, साथ ही पारिवारिक अनबन की बात कही थी. साथ ही आयुष पर विश्वासघात का आरोप लगाकर सांसद के परिवार वालों पर भी सवाल उठाए थे.

भाजपा सांसद की बहु हालत स्थिर

वायरल वीडियो में अंकिता ने आयुष से कहा कि तुम्हारे पिता सांसद, मम्मी विधायक हैं. पूरा परिवार ऊंची पहुंच वाला है, इसलिये संघर्ष कर पाने में अक्षम हूं. वीडियो में खुदकुशी करने का दावा कर अंकिता ने देर रात आत्महत्या की कोशिश की. सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एस के नंदा ने बताया कि अंकिता को रविवार रात 1:20 पर भर्ती किया गया. उनके दाहिने हाथ में चार कट हैं. अब हालत स्थिर है. इमरजेंसी में इलाज करने वाले डॉक्टर ने बताया कि हाथ में अंकिता के सुपर फेशियल स्किन इंजरी है. नस तक कट नहीं पहुंचा है, ऐसे लगता है हाथ पर ब्लेड से वार किया है.

अंकिता बोली तुम याद रखोगे आयुष

अंकिता के दो वायरल वीडियो सोशल मीडिया पर आए हैं. इसमें एक पांच मिनट का है. दूसरा तीन मिनट का है. अंकिता ने वायरल वीडियो में कहा कि आयुष तुम कहते थे, तुम्हारे घर वाले तुमसे प्यार नहीं करते हैं. मुझसे प्यार करते थे. मैं तुम्हारे कारण यहां थी. मुझे किस हाल में छोड़ दिया. यह भी नहीं सोचा, कैसे रहूंगी. खाने के लिए भी कोई ठिकाना नहीं है. मेरा सब कुछ लुट गया मेरे बारे में नहीं सोचा तुमने, सीधे घर चले गए. उनके पास जिनके लिए कहते थे कि वह तुम्हें प्यार नहीं करते, आज वही लोग अच्छे हैं. तुमने कहा था कि सरेंडर करने के बाद साथ रहूंगा. तुम थाने आए, तो मैं भी थाने गई. वहां तुम नहीं मिले. मुझसे बात तक नहीं की. अंकिता ने कहा कि तुम्हारा बहुत इंतजार किया. ऐसा लगता था कि तुम आओगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अब मुझे नहीं रहना. मैं हार गई हूं. मुझे इतने ही वक्त के लिए रहना था, अब दुनिया से जाना है. मुझे याद रखोगे. हर कदम पर तुम्हारे साथ थी तुम्हारी गलतियों को मैंने छुपाया. तुम इतने मतलबी हो इसके बारे में नहीं पता था. अब कुछ नहीं बचा. तुमने बच्चे के बारे में नहीं सोचा. मेरे मरने की वजह तुम हो तुम… आयुष! तुम्हारा परिवार, तुम्हारे पिता… मां और भाई भी जिम्मेदार हैं.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More