खबर तह तक

भाजपा के गढ़ में गरजे राकेश टिकैत- बोले, जमीन बचानी है तो देश के लुटेरों से लड़ाई लड़नी होगी

आगराः जिले में बुधवार को भाकियू (भारतीय किसान यूनियन) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की किसान महापंचायत हुई. यह किसान महापंचायत किरावली के मिनी स्टेडियम में आयोजित हुई थी. इसमें राकेश टिकैत ने नये कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला. राकेश टिकैत ने कहा कि कृषि कानूनों के नाम पर व्यापारियों को लाभ नहीं देने दिया जाएगा.
किसान अभी अपने खेतों में काम करें. इसके साथ ही ट्रैक्टरों में अभी से डीजल भरा लें. फिर, सरकार पेट्रोल पंप से डीजल भरने नहीं देती है. जल्द ही 40 लाख ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली कूच किया जाएगा. भाजपा के गढ़ में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि जमीन बचानी है तो देश के लुटेरों से लड़ाई लड़नी होगी. यह लुटेरे कोई और नहीं बड़े व्यापारी हैं. जिनका केंद्र सरकार समर्थन कर रही है.
भाजपा का है गढ़
बता दें कि किरावली का क्षेत्र भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और फतेहपुर सीकरी के सांसद राजकुमार चाहर का गृह क्षेत्र है. फतेहपुर सीकरी विधानसभा के विधायक चौधरी उदय भान सिंह प्रदेश के राज्य मंत्री हैं. ऐसे में भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की किसान महापंचायत पहले से ही चर्चा में आ गई थी.
किसानों के हित की बात नहीं जानते पीएम
भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने किसान महापंचायत का मंच संभालते ही कहा कि पीएम मोदी मन की बात करते हैं. लेकिन, किसानों के हित उन्हें याद नहीं हैं. रसोई के गैस सिलेंडर पर सब्सिडी छोड़ने की अपील तो पीएम करते हैं लेकिन, अपने मंत्री, सांसद, पूर्व सांसद और विधायकों से पेंशन व वेतन छोड़ने की बात क्यों नहीं कहते हैं.

पुलिस के लिए भी लड़ाई लड़नी है
राकेश टिकैत ने कहा कि पुलिस के लिए भी लड़ाई लड़ी जाएगी. 24 घंटे सेवा करने वाली पुलिस को पेंशन नहीं मिलती है. जबकि, पूर्व सांसद, विधायकों को पेंशन दी जाती है. उन्होंने कहा कि सभी खाप पंचायत के लोग दिल्ली कूच करने के लिए तैयार हैं. इसलिए आप लोग भी तैयार हो जाइए. बड़ी लंबी लड़ाई चलेगी, क्रांति होगी. इस क्रांति में युवाओं को आगे आना होगा, तभी हम जीत सकेंगे. अपनी जमीन के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं. हम व्यापारियों से तो लड़ाई लड़ लेते लेकिन, यह लुटेरे आ गए हैं. इनसे लड़ाई बहुत लंबी चलेगी.

पंचों ने बांधा साफा, किसानों ने पहनाया चांदी का मुकुट
किसान महापंचायत को संबोधित करने आए राकेश टिकैत का स्वागत मंच पर किसान नेताओं ने चांदी का मुकुट पहनाकर किया. राकेश टिकैत ने किसानों का हाथ उठाकर और हाथ जोड़कर अभिवादन किया. युवाओं की भीड़ उनके साथ सेल्फी लेने के लिए उमड़ पड़ी. राकेश टिकैत ने मंच संभालते ही सभी किसानों से और युवाओं से अपील की कि वह जहां हैं, वहीं पर बैठ जाएं. इसके बाद उनका पंचों ने साफा बांधा.

लहराया तिरंगा और गूंजे नारे
किसान महापंचायत में किरावली के मिनी स्टेडियम पहुंचे किसानों के हाथ में तिरंगा और भारतीय किसान यूनियन का झंडा था. किसानों ने राकेश टिकैत के मंच पर पहुंचते ही तिरंगा झंडा हवा में लहरा दिया. जय जवान, जय किसान के नारे लगाए . राकेश टिकैत पहली बार किरावली में महापंचायत करने आए थे. जिले के किसान बड़ी संख्या में उन्हें सुनने के लिए पहुंचे. ट्रैक्टर और ट्राली में भरकर किसान नारेबाजी करते हुए महापंचायत स्थल पर पहुंचे.

सुरक्षा बेहद पुख्ता
पुलिस की ओर से किसान महापंचायत को लेकर सुरक्षा व्यवस्था का मजबूत खाका तैयार किया गया था. पीएसी के जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात किए गए थे. पुलिस की और खुफिया एजेंसियों की नजर चप्पे-चप्पे पर थी. इतना ही नहीं पुलिस और प्रशासन की ओर से ड्रोन कैमरे से महापंचायत की सुरक्षा का जायजा लिया जा रहा था. मैदान में मौजूद किसानों के साथ ही अन्य लोगों पर पुलिस की नजर थी.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More