खबर तह तक

उत्‍तर रेलवे मंडल के अस्‍पतालों में संविदा पर होगी डॉक्‍टरों की भर्ती, OPD में मरीजों को मिलेगी सुविधा

लखनऊ: उत्तर रेलवे के मंडल अस्पताल और हेल्थ यूनिट में रेलकर्मियों व उनके परिवार को ओपीडी में लंबी लाइन नहीं लगानी होगी। रेलवे अपने यहां फिजिशियन की कमी को पूरा करने के लिए 10 और डॉक्टरों की तैनाती करेगा। यह तैनाती इस बार संविदा के आधार पर होगी। इससे पहले रेलवे ने कोविड-19 के लिए अस्पताल में डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती की थी।
उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल का सबसे बड़ा अस्पताल चारबाग का इंडोर अस्पताल है। जबकि डीआरएम कार्यालय सहित कई जगहों पर उसकी हेल्थ यूनिट भी हैं। पिछले कुछ माह में सेवानिवृत्त हुए डॉक्टरों की जगह नई तैनाती न होने के कारण मौजूदा डॉक्टरों पर ओपीडी का लोड लगातार बढ़ रहा है। मंडल अस्पताल के साथ कई हेल्थ यूनिटों में रेलकर्मियों, सेवानिवृत्त रेलकर्मियों और उनके आश्रितों की ओपीडी में लंबी लाइन लग रही है।
इसे देखते हुए अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. विश्वमोहिनी सिन्हा की ओर से 10 और नए डॉक्टरों की संविदा पर नियुक्ति करने का प्रस्ताव उत्तर रेलवे मुख्यालय को भेजा था। मुख्यालय ने मुख्य चिकित्सा निदेशक को लखनऊ रेल मंडल में और डॉक्टरों की तैनाती करने के प्रस्ताव को स्वीकृत करने के आदेश दिए हैं।
इन फिजिशियन डॉक्टरों की तैनाती मंडल रेल अस्पताल के साथ कुछ हेल्थ यूनिटों में की जाएगी। रेलवे अस्पताल पिछले माह ही कोविड केयर सेंटर की सूची से हटाया गया था। पिछले साल अप्रैल से यह अस्पताल कोविड केयर सेंटर बना हुआ था। जहां सभी तरह की ओपीडी व इमरजेंसी सेवाएं बंद करके रेलकर्मियों को दूसरे अस्पतालों में उपचार मुहैया कराया गया। यहां केवल कोविड मरीजों का ही उपचार किया गया।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More