खबर तह तक

बाहुबली अतीक अहमद पर कसेगा योगी सरकार का शिकंजा, 18 और सम्पत्तियां की जाएंगी जब्त

प्रयागराज: माफ़िया घोषित किये गए पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अतीक अहमद और उसके गिरोह पर क़ानून के साथ ही योगी सरकार का शिकंजा अब तेजी से कसता जा रहा है. यूपी की योगी सरकार ने पिछले दिनों ऑपरेशन नेस्तनाबूत नाम से जिस अभियान की शुरुआत की थी, उसके तहत प्रयागराज में अतीक की कई आलीशान इमारतों को सरकारी बुलडोजरों के ज़रिये ज़मींदोज़ किया जा चुका है. इसके साथ ही करीब आधा दर्जन संपत्तियों को कुर्क व जब्त भी किया गया है.
इसी कड़ी में प्रयागराज का सरकारी अमला बाहुबली की 18 और सम्पत्तियों को जब्त करने की तैयारी में है. जिले के डीएम ने इसके लिए पुलिस को मंजूरी भी दे दी है. यह संपत्तियां शहर के करेली इलाके के ऐनुद्दीनपुर गांव में हैं. करोड़ों की इस प्रॉपर्टी पर अतीक के करीबी प्लाटिंग कर रहे थे. यह सारी प्रापर्टियां एक ही जगह पर हैं, लेकिन इनका आराजी नंबर अलग-अलग है. इसके साथ ही अतीक गैंग के दो मेंबर माजिद और अकबर की पांच संपत्तियां भी कुर्क किये जाने का आदेश हो गया है. सदस्यों की यह प्रॉपर्टीज मरियाडीह इलाके के बम्हरौली उपरहार इलाके में हैं.
जब्तीकरण की कार्रवाई प्रयागराज पुलिस को करनी होगी
इन सभी 23 सम्पत्तियों को अगले तीन से चार दिनों में जब्त किया जा सकता है. जब्तीकरण की कार्रवाई प्रयागराज पुलिस को करनी होगी. संबंधित थानों के प्रभारी इन संपत्तियों के प्रशासक रहेंगे. कुर्की की कार्रवाई के दौरान डुगडुगी बजाकर मुनादी भी कराई जाएगी. प्रयागराज में ही ऑपरेशन नेस्तनाबूत का सबसे ज़्यादा असर भी देखने को मिल रहा है. यहां पिछले पांच महीनों में 46 माफियाओं और बाहुबलियों की इमारतों को बुलडोज़रों के ज़रिये ध्वस्त किया जा चुका है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More