खबर तह तक

पुलिस व वन कर्मियों की मिलीभगत से हरे पेड़ों पर चल रहे आरे, महकमा उदासीन

भूपेन्द्र सिंह


सुल्तानपुर। एक तरफ जहां प्रदेश की योगी सरकार पर्यावरण को हरा-भरा बनाए जाने को लेकर प्रतिवर्ष वन सप्ताह व एनजीटी के दिशा निर्देशों पर नदियों व सड़को के किनारे करोड़ो रूपये वृक्षारोपण पर खर्च कर गहराते पर्यावरणीय संकट को बचाने जोर दे रही है। तो वही जमीनी स्तर पर पुलिस व वन विभाग कर्मियों के लचर रवैया के चलते ग्रामीण क्षेत्रो में लकड़ी माफिया सक्रिय नजर आते हैं। और पुलिस की सह पर धड़ल्ले से हरे पेड़ों पर आरे चलाए जा रहे हैं।

जिले के गोसाईगंज थाना क्षेत्र के सैदपुर मिश्रौली गांव में नहर के किनारे शनिवार को दोपहर से लेकर दिनभर स्थानीय पुलिस कर्मियों की मिलीभगत से धड़ल्ले से हरे आम के पेड़ों पर आरे चलते रहे। बिभागीय उदासीनता के चलते बेरोकटोक हरे पेड़ों की कटान का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। वही पुलिस व वन विभाग के आला अधिकारी व कर्मी पर्यावरण पर गहराते संकट को नजरअंदाज कर रहे हैं। इस संबंध में गोसाईगंज थानाध्यक्ष ओमवीर सिंह चौहान ने बताया कि मुझे इस मामले में जानकारी नहीं है। मेरी ड्यूटी जिला मुख्यालय पर मूर्ति विसर्जन में लगी हुई है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More