खबर तह तक

मुख्यमंत्री के ऑर्डर को प्रवचन से ज्यादा कुछ नहीं समझा जाता: अखिलेश यादव

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में बढ़ते अपराध और कोरोना में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं के मुद्दे पर एक बार फिर योगी सरकार पर जोरदार प्रहार किया है. उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है. बेखौफ अपराधी खूनी तांडव कर रहे हैं. कोरोना महामारी के संक्रमण में कई हजार जान जा चुकी है. शिक्षा-स्वास्थ्य की व्यवस्थाएं बर्बादी के कगार पर हैं, लेकिन भाजपा की डबल इंजन की सरकारों को, जनता की तकलीफों और रसातल में जा रही अर्थव्यवस्था की कोई चिंता नहीं.

प्रदेश के पूर्व मुखिया ने वर्तमान मुखिया पर तंज कसते हुए कहा कि ‘मुख्यमंत्री जी चाहें जितने ऑर्डर जारी करें, उन्हें उनके प्रवचन से ज्यादा कुछ नहीं समझा जाता है’. उन्होंने कभी ठोको नीति का उपेदश दिया था, परिणाम स्वरूप कई जगहों पर पुलिस या अपराधियों ने भाजपा नेताओं को भी ठोक-पीट कर हिसाब पूरा कर दिया. अभी बांदा में भाजपा नेता पर धारदार हथियार से हमला हुआ. कुछ दिन पहले फैजाबाद में भाजपा नेता को गोली मारी गई थी. वहीं अन्य जनपदों में रोज ही हत्या, लूट, अपहरण और बलात्कार की घटनाएं होती रहती हैं, लेकिन सरकार बेफिक्र है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश में नौजवानों की जिंदगी से भाजपा खेलने में जरा भी संकोच नहीं कर रही है. क्लैट परीक्षाएं स्थगित हो गईं, पर लाखों युवा जेईई-नीट परीक्षा में बैठने को मजबूर किए गए. लॉकडाउन में लाखों की नौकरियां छूट गई, आज भी लाखों युवा मारे-मारे घूम रहे हैं, लेकिन करोड़ों नौकरियां देने का वादा करने वाले हजार नौकरी भी नहीं दे पा रहे हैं.

भाजपा सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को बनाया अपंग
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को समाजवादी सरकार ने जितना सुदृढ़ किया था, भाजपा सरकार ने उतना ही उसे अपंग बनाया है. प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं की गड़बड़ी का परिणाम जनता भुगत रही है. कोरोना संक्रमण में अब तक प्रदेश में कई हजार जान चली गई हैं. कोरोना संक्रमितों के इलाज में लापरवाही की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं, लोगों में दहशत है. भाजपा के मंत्री, विधायक, सांसद भी इससे नहीं बच सके.

प्रदेश में आ गई है झूठे मुकदमों की बाढ़
अखिलेश ने कहा कि भाजपा राज में हर तरफ अव्यवस्था और अराजकता व्याप्त है, पुलिस अपराधियों को पकड़ने से ज्यादा चुस्ती छात्रों पर बेरहमी से लाठियों का इस्तेमाल करती है. प्रशासन असहमति के स्वर को कुचलने की नई-नई साजिशें करता रहता है. झूठे मुकदमों और फर्जी एनकाउण्टर की बाढ़ ने उत्तर प्रदेश का नाम देश-दुनिया में बदनाम करके रख दिया है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More