खबर तह तक

कालाबाजारी करने वालों पर कसा शिकंजा, तेजी से हो रहे बाढ़ राहत कार्य: अवनीश अवस्थी

0

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के लोकभवन में रविवार को प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि कालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 1161 लोगों के खिलाफ 858 एफआईआर दर्ज करते हुए 398 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ ही फेक न्यूज के अन्तर्गत अब तक 2395 मामलों में कार्रवाई की गई है. मामले में अब तक प्रदेश में 89 एफआईआर दर्ज करते हुए 26 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम लेकर प्रदेश के कंटेनमेंट जोन 85,22,188 लोगों को चिह्नित किया गया है. जोन में कोरोनो संक्रमितों की संख्या 40,658 और इन्टीट्यूशल क्वारंटाइन किए गए लोगों की संख्या 30,672 है. अवनीश अवस्थी ने बताया कि धारा 80 के तहत गोरखपुर जोन में 97 हजार और वाराणसी जोन में 32 हजार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है.

प्रदेश के विभिन्न जिलों में आयी बाढ़ की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि सीएम योगी के निर्देश पर लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों एवं बांधों की निगरानी की जा रही है. बांधों की मरम्मत के लिए आवश्यक सामग्री की उपलब्धता भी सुनिश्चित की गई है. साथ ही सीएम के निर्देश पर जिला मुख्यालय पर आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम 24 घंटे संचालित किया चा रहा है. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सभी समस्याओं का समाधान करते हुए लगातार राहत एवं बचाव का कार्य किया जा रहा है.

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में वितरित की जा रही राहत सामग्री
अवस्थी ने बताया कि सीएम योगी के निर्देश पर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्थानीय जन-प्रतिनिधियों द्वारा निरीक्षण करते हुए राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है. मौजूदा समय में प्रदेश सभी तटबंध सुरक्षित हैं. प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जनपदों में सर्च एवं रेस्क्यू के लिए एनडीआरएफ की 12 टीमें और एसडीआरएफ व पीएसी की 17 टीमें तैनात की गईं हैं. वहीं बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 465 नाव लगाई गई है. बाढ़ की आपदा से निपटने के लिए बचाव व राहतद प्रबंधन के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं. साथ ही बाढ़ आपदा से निपटने के लिए प्रदेश में 373 बाढ़ शरणालय और 784 बाढ़ चौकियों की स्थापना की गई है.

16 जिलों के 690 गांव बाढ़ से प्रभावित
अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मौजूदा समय में प्रदेश के 16 जिलें अंबेडकरनगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बाराबंकी, बस्ती, देवरिया, फर्रुखाबाद, गोंडा, गोरखपुर, कुशीनगर, लखीमपुरखीरी, मऊ, सीतापुर और संत कबीर नगर के 690 गांवों बाढ़ से प्रभावित है. अधिकांश नदियों का जल स्तर घट रहा है.

शारदा नदी, पलिया कला (लखीमपुरखीरी), सरयू (घाघरा) नदी (अयोध्या) और तुर्तीपार (बलिया), सरयू (घाघरा) नदी एल्गिनब्रिज बाराबंकी में अपने खतरे के जलस्तर से ऊपर बह रही है. प्रदेश में 494 पशु शिविर स्थापित किए गए हैं और 7,29,389 पशुओं का टीकाकरण भी किया चा चुका है.

उन्होंने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अब तक कुल 4,723 क्विंलट भूसा वितरित किया गया है. आपदा से निपटने के लिए जिला एवं प्रदेश स्तर पर आपदा नियंत्रण केंद्र की स्थापना की गई है. बाढ़ प्रभावित लोग कंट्रोल हेल्प लाइन नंबर 1070 पर फोन कर संपर्क कर सकते हैं.

चेकिंग के दौरान प्रदेश में 70 हजार वाहन सीज
उन्होंने बताया कि प्रदेश के में पुलिस विभाग द्वारा अब तक धारा 188 के तहत 2,10,376 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. साथ ही प्रदेश में अब तक 1,38,85,136 वाहनों की सघन चेकिंग की गई है. इस दौरान 70,186 वाहन सीज किए गए हैं. वहीं चेकिंग अभियान के दौरान 71,39,04,809 रुपये का जुर्माना भी वसूल किया गया है. आवश्यक सेवाओं के लिए प्रदेश में अब तक कुल 4,33,479 वाहनों के परमिट जारी किए गए हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More