खबर तह तक

हत्या की रिपोर्ट को हत्या के प्रयास में बदलने पर भड़के ग्रामीण, सड़क पर उतरे, वर्ग संघर्ष की आशंका

  • गोंडा के मनकापुर की घटना,शुक्रवार को बहन के साथ छेड़खानी का विरोध करने पर भाई की हत्या
  • पुलिस ने हत्या के बाद भी मुकदमें में धारा बदली, भड़ग गए ग्रामीण, लगाया जाम
  • ग्रामीणों का आरोप हत्यारे युवक के गांव के लोगों ने रात में किया था उनके गांव पर हमला
  • मौके पर नहीं पहुंची पुलिस, शनिवार सुबह होते ही आक्रोशित ग्रामीण उग्र हुए और सड़क पर उतरे

लखनऊ। गोंडा में बहन के साथ छेडखानी खा विरोध करने पर हुयी भाई की हत्या के बाद भी पुलिस ने हत्या के बजाय हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर लिया। उसके ग्रामीण उग्र हो गए और सड़कों पर उतर आए। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस की शह के कारण हत्या करने वाले युवक के गांव के लोगों ने उनके गांव की दलित बस्ती पर हमला कर दिया।

ग्रामीणों का कहन है कि उनके साथ सैकड़ो महिलाएं भी थे। इन लोगों ने जमकर मारपीट की और पुलिस सूचना देने पर भी नहीं आयी। शनिवार सुबह आक्रोशित ग्रामीणों ने मनकापुर से बभनान मार्ग पर जाम लगा दिया। मृतक के परिवार की औरतें भी सड़क पर आ गईं । अभी जाम लगा हुआ है। प्रशासन ग्रामीणों की मनुहार कर रहा है। इसे लेकर इलाके में तनाव भी फैला हुआ है।

मिली जानकारी के मुताबिक कल शुक्रवार को कोतवाली मनकापुर के एक गांव बल्लीपुर के पासीपुरवा में रहने वाली एक युवती से छेड़छाड़ का विरोध करने पर दबंगो ने शुक्रवार देर रात भाई की चाकुओं से गोद कर निर्मम हत्या कर दी थी। देर रात घटी इस वारदात के बाद आनन फानन में घायल भाई को जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इसके बाद शनिवार सुबह भाई की हत्या पर भड़के ग्रामीण सड़क पर उतर आए। ग्रामीणों ने मनकापुर बभनान मार्ग जाम कर दिया है। सैकड़ों की संख्या में जुटे ग्रामीणों का गुस्सा पुलिस के खिलाफ भड़का हुआ है। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि पुलिस ने हत्या के मामले में हत्या के प्रयास में बदल दिया है। इससे ग्रामीण और भड़क गये और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। वर्ग संर्घष की स्थिति बनते देख मौके पर पुलिस और तहसील के अधिकारी पहुंच गए हैं। प्रदर्शन में महिलाएं भी भारी संख्या में शामिल है।

ग्रामीण अन्य लोगों का नाम मुकदमें में बढा कर उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। पुलिस विरोधी नारे लग रहे है। ग्रामीणों का कहना है कि शुक्रवार रात उनकी दलित बस्ती पर हत्या आरोपी के गांव की औरतों और कुछ लोग धावा बोल दिया। इसको लेकर वर्ग संघर्ष शुरू हो गया। दोनों तरफ से लाठियां भी चलीं। कुछ ही देर बाद सड़क पर लम्बा जाम लगा दिया गया। मृतक के परिवार की औरतें भी सड़क पर आ गईं । अभी जाम लगा हुआ है। प्रशासन ग्रामीणों की मनुहार कर रहा है। इसे लेकर इलाके में तनाव भी फैला हुआ है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More