उत्तर प्रदेशलखनऊ

लॉकडाउन की वजह से भुखमरी की कगार पर पहुंचे फुटपाथ दुकानदार

लखनऊ। केन्द्र सरकार की गाइडलाइन्स के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना मुक्त क्षेत्रों को लाॅकडाउन से लगभग आजाद कर दिया है। 8 जून से सभी शहरों के माॅल्स, बाजार, होटल, रेस्टोरेंट व धार्मिक स्थलों को भी खोल दिया गया है। लेकिन राजधानी के फुटपाथ बाजार अभी भी जिला प्रशासन की हरी झण्डी का इंतजार कर रहे हैं। शहर की सबसे बड़ी फुटपाथ मार्केट अमीनाबाद में दुकानदार अब भुखमरी की कगार पर पहुंच चुके हैं। लगभग 3 महीने से बंद इस मार्केट को खोलने की अभी भी प्रशासन की तरफ से कोई उम्मीद नहीं दिख रही है।

अमीनाबाद में एक हजार से ज्यादा फुटपाथ की दुकाने हैं। सत्योदय ने जब इन दुकानदारों से बात की तो उनकी पीड़ा सामने आ गयी है। दुकानदारों ने कहा, प्रशासन अभी हम सभी को दुकान खोलने की इजाजत नहीं दिया है। मालूम नहीं अभी कब तक इंतजार करना होगा! अब तो हम सभी भुखमरी के कगार पर आ गए है।

अब तो कोई कर्ज भी नहीं दे रहा कि जिससे परिवार को पाला जाए और आने वाले समय में बच्चों को शिक्षा दिला सकें। हमारी प्रशासन से मांग है कि हम सब को भी दुकानें खोलने की इजाजत मिले। लाॅकडाउन के बाद से ही इन दुकानदारों का माल ठेलों पर पाॅलीथीन से ढका हुआ सड़क पर पड़ा है। अब तक इन ठेलों पर धूल भी जम चुकी है।

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button