उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

बीबीडी छात्र हत्या कांड में पूर्व विधायक के बेटे की जमानत अर्जी खारिज

लखनऊ। जिला जज अनिल कुमार ओझा ने लखनऊ की अलकनंदा अपार्टमेंट में चाकूओं से गोदकर एक छात्र की हत्या व हत्या की साजिश रचने के मामले में अभियुक्त अमन बहादुर की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। उन्होंने अपने आदेश में कहा है कि इस मामले के समस्त तथ्यों, परिस्थितियों व उपलब्ध साक्ष्य तथा अपराध की गंभीरता के मद्देनजर अभियुक्त को जमानत पर रिहा करने का उचित आधार नहीं है। अभियुक्त अमन लखीमपुर खीरी के धौरहरा के पूर्व विधायक शमसेर बहादुर का पुत्र है।

अदालत में सुनवाई के दौरान फौजदारी के जिला शासकीय अधिवक्ता मनोज त्रिपाठी ने अभियुक्त की जमानत अर्जी का जोरदार विरोध किया। उन्होंने कहा कि इस मामले में अभियुक्त के खिलाफ हत्या व हत्या की साजिश रचने में आरोप पत्र दाखिल हो चुका है। 19 व 20 फरवरी की रात्रि में प्रशांत सिंह अपने साथियों के साथ सफेदाबाद स्थित कालिका हवेली रेस्टोरेन्ट में खाना खाने गया था। जहां पहले से मौजूद बीबीडी छात्र अर्पण शुक्ला व उसके एक साथी से उसकी बहसबाजी व मारपीट हो गई। इसके बाद सब अपने घर चले गए।

इस बात की जानकारी होने पर अभियुक्त अमन बहादुर ने फोन कर प्रशांत सिंह व उसके दोस्त को अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। दूसरे दिन जब प्रशांत अपनी बहन को लेने अलकनंदा अपार्टमेंट गया था, जहां चाकुओं से गोदकर उसकी हत्या कर दी गई। इस मामले का मुख्य अभियुक्त अर्पण शुक्ला व अन्य अभियुक्तों ने अपने बयान में अमन बहादुर को हत्या का साजिशकर्ता बताया है। विवेचना में भी उसके खिलाफ पुख्ता साक्ष्य मिले हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button