उत्तर प्रदेशऔरैया

औरैया: महिला कांस्टेबल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

औरैया। बिधूना थाने में तैनात महिला कांस्टेबल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मंगलवार सुबह कांस्टेबल का शव कमरे में फंदे पर लटका मिला तो सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की तो एक सुसाइड नोट मिला है।

बागपत निवासी शालू गिरी पुत्र राजेंद्र गिरी जनपद औरैया की कोतवाली बिधूना में कांस्टेबल के पद पर तैनात थी। सोमवार शाम वह अपनी ड्यूटी खत्म कर बिधूना कस्बे में मोहल्ला किशोरगंज में स्थित किराए के मकान में पहुंची। 2 जून की सुबह जब काफी देर तक शालू का दरवाजा नहीं खुला तो इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी गई।

26 अप्रैल को हुई थी शादी

कोतवाल विनोद कुमार शुक्ला द्वारा इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई। सूचना पाकर सीओ बिधूना मुकेश प्रताप सिंह भी पहुंच गए और जांच-पड़ताल में जुट गए। वहीं सीओ ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना के संबंध में जानकारी उसके परिजनों व पति को दे दी गई है। बता दें कि बीते 26 अप्रैल को ही मृतक महिला सिपाही शालू गिरी (22) की शादी हुई थी।

रात में बहन से हुई थी बात

लखनऊ में तैनात बड़ी बहन स्वाति औरैया के लिए निकल चुकी है। उन्होंने फोन पर पुलिस को बताया कि रात में बातचीत के दौरान शालू बहकी बहकी बातें कर रही थी। वह कह रही थी कि जिंदगी से बहुत परेशान हो चुकी और अब वह जीना नहीं चाहती है। इसपर वह उसे काफी देर तक समझाने का प्रयास करती रही और फिर फोन काट दिया। इसके बाद वह रात में कई बार शालू को कॉल करती रही लेकिन उसका फोन नहीं उठा। इसपर सुबह उसने कोतवाली पर सूचना दी थी।

सुसाइड नोट में लिखी ये बात

एएसपी कमलेश दीक्षित और सीओ मुकेश कुमार ने कमरे की तलाशी ली तो सुसाइड नोट मिला है। सुसाइड नोट में लिखा है कि ‘मैं अपनी जिंदगी से परेशान होकर खुदकशी कर रही हूं, प्लीज किसी को परेशान न किया जाए।’ एएसपी ने बताया कि मामले की जांच कराने के साथ फोरेंसिक टीम ने भी साक्ष्य एकत्र किए हैं। स्वजनों के आने के बाद हकीकत सामने आने पर ही खुदकशी का कारण पता चल सकेगा।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button