उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

उप्र में कोरोना वायरस से एक दिन में सबसे अधिक 24 लोगों की मौत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण से एक दिन में सबसे अधिक 24 और लोगों की मौत होने के बाद बृहस्पतिवार को मृतकों की संख्या बढ़कर 345 हो गयी है जबकि संक्रमण के मामलों की संख्या 12 हजार के पार पहुंच गई हैं। प्रमुख सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अभी 4,451 मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि कुल 7,292 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि इस महामारी से अब तक 345 लोगों की मौत हुई है।

उन्होंने बताया कि राज्य में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 12,088 हो गई है।प्रसाद ने बताया कि बुधवार को प्रदेश में 15 हजार से अधिक नमूनों की जांच की गयी। अब तक 4,11,000 से अधिक लोगों के नमूनों की जांच की जा चुकी है। प्रमुख सचिव ने बताया, ‘‘आरोग्य सेतु का लगातार उपयोग किया जा रहा है। आरोग्य सेतु से जिन लोगों से जानकारी मिल रही हैं, स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से ऐसे 71,736 लोगों को फोन कर हालचाल लिया गया और उचित सलाह दी गयी।’’

उन्होंने बताया कि कुल 155 लोगों ने बताया कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गये हैं और वे विभिन्न अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं जबकि 3,289 लोगों ने बताया कि वे पृथक-वास में हैं। उन्होंने बताया कि आशा कर्मियों ने अब तक 15,13,585 प्रवासी श्रमिकों के घर-घर जाकर उनका हालचाल लिया है और अगर किसी में लक्षण पाये गये तो उसकी सूचना दी है।

प्रसाद ने बताया कि शुक्रवार से जांच का नया अभियान सप्ताहभर के लिए शुरू किया जायेगा और इस अभियान के तहत उन लोगों के नमूनों की जांच की जाएगी, जो कोरोना वायरस के संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील हैं और जिनका बाहर आना-जाना बहुत रहता है। उन्होंने बताया कि पहले वृद्धाश्रम, नारी निकेतन और अनाथालयों में रहने वालों के नमूनों को एकत्र कर जांच करायी जाएगी और शनिवार को शहरी झुग्गी बस्तियों में निवास करने वाले लोगों के नमूने लिये जाएंगे। प्रसाद ने बताया कि इसके बाद अखबार के हॉकर, दूध वाले और होम डिलीवरी वालों के नमूने एकत्र कर जांच के लिए भेजे जाएंगे।

Ramanuj Bhatt

रामअनुज भट्ट तकरीबन 15 सालों से पत्रकारिता में हैं। इस दौरान आपने दैनिक जागरण, जनसंदेश, अमर उजाला, श्री न्यूज़, चैनल वन, रिपोर्टर 24X7 न्यूज़, लाइव टुडे जैसे सरीखे संस्थानों में छोटी-बड़ी जिम्मेदारियों के साथ ख़बरों को समझने/ कहने का सलीका सीखा।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button