उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

उत्तर प्रदेश में 60 साल से ज्यादा के बुजुर्गों में कोरोना का संक्रमण घटा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब तक तीन लाख से ज्यादा नमूनों की जांच हो चुकी है। प्रदेश में 60 साल के ऊपर बुज़ुर्गों में कोरोना संक्रमण का प्रतिशत पहले 9 प्रतिशत था, जो अब घटकर 5.99 प्रतिशत रह गया है। बुज़ुर्गों को संक्रमण से बचने के लिए सरकार की ओर से बार-बार की गई अपील का यह परिणाम सामने आया है। प्रदेश में बुधवार को कोरोना के 338 नए मामले पाए गए हैं।

यह जानकारी चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश अवस्थी के साथ बुधवार को एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। बुधवार को कोरोना संक्रमण के 338 नए मामले पाए गए हैं। इस तरह अब तक प्रदेश में 8870 मामले कोरोना पॉजिटिव के मिल चुके हैं। 5257 डिस्चार्ज हो चुके हैं। 230 मौतें हो चुकी हैं। अब 3383 सक्रिय मामले हैं।

68 मरीजों को दी जा रही है ऑक्सीजन

प्रदेश में 3448 मरीज आइसोलेशन बेड पर हैं और क्वारंटाइन में 8031 मरीज हैं। 3448 आइसोलेशन बेड वाले मरीजों में 68 को ऑक्सीजन दी जा रही है और 4 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। आशा वर्करों ने 12 लाख से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों की ट्रैकिंग की है। इसमें 1102 लोगों में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए गए हैं। इनके नमूने लेकर जांच के लिए भेजा गया है।

प्रसाद ने बताया कि पिछले 24 घंटों में 9322 नमूनों की जांच की गई। पूल टेस्टिंग के लिए 798 पूल पांच-पांच के और 95 पूल दस-दस के भेजे गए। प्रमुख सचिव ने कहा कि कोरोना संक्रमण सिगरेट पीने वालों के लिए आम लोगों की अपेक्षा ज्यादा नुकसानदायक है। एक तो सिगरेट पीने से फेफड़े कमजोर होते हैं। दूसरे सिगरेट पीने वाला व्यक्ति बार-बार अपना हाथ मुंह की तरफ ले जाता है, जिससे संक्रमण होने की आशंका बनी रहती है।

Mukund

मुकुन्द बिहारी (स्वतंत्र टिप्पणीकार) स्वदेश चेतना, लोकमत, अनन्त टाइम्स, चरडीकला टाइम टीवी व अन्य कई समाचार पत्रों व न्यूज चैलन में विभिन्न पदों पर कई किरदार निभा चुके हैं। डिजिटल खबर व लेखनी को जगाए रखने में तत्पर रहते हैं। ये विडियो एडिटिंग की तकनिकी योग्यता रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button