खबर तह तक

EU सांसद: पड़ोसी मुल्क से भारत में आते हैं आतंकवादी 

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के बाद पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत के खिलाफ माहौल बनाने और समर्थन जुटाने की कोशिश में लगा है, लेकिन उसे अब तक उम्मीद के मुताबिक कामयाबी नहीं मिली है. इस संबंध में उसकी नाराजगी भी दिखने लगी है. इस बीच पाकिस्तान को करारा झटका तब लगा जब यूरोपियन यूनियन के सांसद रिजार्ड जार्नेकी ने कहा कि भारत में आतंकी चांद से नहीं बल्कि पड़ोसी मुल्क से आते हैं.

Pakistan

पाकिस्तान पोलिश नेता का यह बयान सुनकर भड़क सकता है क्योंकि यह उसकी पोल खोलता है. साथ ही उन्होंने कश्मीर मसले पर भारत का साथ देने की बात कही. पोलैंड के नेता और यूरोपियन यूनियन के सांसद रिजार्ड जार्नेकी (Ryszard Czarnecki) ने कहा कि भारत में आतंकी चांद से नहीं पड़ोसी मुल्क से आते हैं. उन्होंने आगे कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हमें भारत में होने वाले आतंकी हमलों को देखने की जरूरत है. जम्मू-कश्मीर में आतंकी चांद से नहीं आते हैं, पड़ोसी मुल्क से आते हैं. हमें कश्मीर मसले पर भारत का समर्थन करना चाहिए.

‘पाक परमाणु हथियारों की धमकी देता है‌‌‌’  इसके अलावा इटली के ग्रुप ऑफ यूरोपियन पीपुल्स पार्टी (क्रिश्चियन डेमोक्रेट्स) के फुल्वियो मार्टुसिएलो ने कहा कि पाकिस्तान ने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने की धमकी दी है. पाकिस्तान ऐसी जगह है, जहां आतंकी पूरे यूरोप में हमलों की साजिश रचते हैं. पाकिस्तान मानवाधिकारों का उल्लंघन करता है.

इससे पहले यूरोपियन यूनियन संसद ने भारत और पाकिस्तान से कश्मीर मुद्दे पर बातचीत करने की अपील की थी. ताकि दोनों देशों के बीच शांति बनी रहे.

अफगानिस्तान में बड़ा धमाका, सुरक्षाबलों के बीच हुई मुठभेड़

दो बार ट्रंप से मिलेंगे इमरान

इस बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस महीने के आखिर में अमेरिका का दौरा करने वाले हैं. अमेरिकी दौरे के दौरान इमरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी मुलाकात करेंगे. दोनों नेताओं के बीच दो बार मुलाकात होगी. इमरान खान अपने अमेरिकी दौरे पर संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के सत्र को भी संबोधित करेंगे.

पाकिस्तान के एक मीडिया चैनल के मुताबिक, प्रधानमंत्री इमरान खान और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच पहली मुलाकात लंच और दूसरी हाई टी पर होगी. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका दौरे पर इमरान की बैठकों के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया गया है.

भारत के फैसले के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. इमरान खान कई देशों के सामने कश्मीर का रोना रो चुके हैं, लेकिन हर जगह से उन्हें निराशा ही मिली. पाकिस्तान के दुष्प्रचार के इतर भारत पूरी दुनिया को बताता रहा है कि कश्मीर उसका आंतरिक मामला है और पाकिस्तान को सलाह दी कि वो सच्चाई को स्वीकार करे.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More