खबर तह तक

संदिग्ध परिस्थितियों में युवक की मौत

युवक के बदन पर मिले चोट के निशान

बीकापुर-अयोध्या। थाना बीकापुर क्षेत्र में गजडी गांव में 24 वर्षीय युवक की बीती रात्रि सरिया के पास जख्मी अवस्था में पड़ा मिलने से परिजन द्वारा सीएचसी बीकापुर उपचार के लिए लाया गया जहां चिकित्सक ने देखते ही मृत्यु घोषित कर दिया गया।घटना की सूचना पर हल्का दरोगा भीमसेन यादव पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचकर परिजनों से पूछताछ कर रही है।

ग्राम प्रधान निर्मला के प्रतिनिधि लालजी यादव की उपस्थिति में शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इस मामले को लेकर ग्रामीणों में तरह-तरह की चर्चाएं होना शुरू हो गया है। वैसे मामला कुछ भी हो जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक यह कहना कि हत्या है यह फिर मौत होने का क्या कारण हो सकता है।

मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत भावापुर के गजडी गांव निवासी अमित कुमार यादव 24 उम्र लगभग,   18/19   बीती रात सरिया और खेत की तरफ छुट्टा जानवर हांकने गया था साथ में उसका भाई विजय कुमार था। कुछ देर बाद हल्ला गुहार की आवाज सुनकर जब तक ग्रामीण व परिजन के लोग पहुंचे तो जख्मी होकर जमीन पर खून से लथपथ गिरा पड़ा मिला। आनन फानन में परिजन और ग्राम प्रधान प्रतिनिधि लालजी यादव के द्वारा सीएचसी बीकापुर उपचार के लिए लाया गया जहां चिकित्सक ने देखते ही मृत्यु घोषित कर दिया।

घटना की सूचना किसी ग्रामीण ने कोतवाली पुलिस को दी, मौके पर पहुंचे हल्का दरोगा भीमसेन यादव पुलिस टीम के साथ और मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। परिजनों से भी पूछताछ कर रही है। बताते चलें कि राज बहादुर यादव के चार पुत्र एक पुत्री है। क्रमशः प्रमोद कुमार, विजय कुमार, अमित कुमार (मृतक) अनित कुमार, पुष्पा कुल पांच बच्चे हैं अनित कुमार मौके पर जलांधर में है।

इस मामले में ग्रामीणों की मानें तो अमित कुमार की मौत पर तरह तरह की चर्चाएं दबी जुबान से होना शुरू हो गई है। चर्चा के अनुसार मृतक के घर से उत्तर लगभग 900मीटर दूरी पर जानवर की सरिया और खेत हैं जहां छुट्टा जानवर रात में आने की सूचना पर हांकने गया था हांकते समय छुट्टा जानवर पलट कर मारने के लिए दौड़ा लिया अपने तरफ आते देखा तो जान बचाकर भागने लगा और पेड़ की जड़ में पैर का टोकरा लगने से मुंह के बल गिर गया जिससे नाक पर गम्भीर चोटें आई और मौत हो गई।

कुछ लोगों का कहना है कि मौत होने का कारण परिजन द्वारा जानबूझकर कर पर्दा डालने में लगे। फिर हालत मामला पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगा कि मौत होने का कारण क्या बन सकता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More