खबर तह तक

आईपीएस अमिताभ ठाकुर को जिन्दा जलाने की धमकी, गाजीपुर में एफआईआर दर्ज

लखनऊ/गाजीपुर। आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर को फेसबुक पर  जिंदा जलाने की धमकी देने के मामले में  गाजीपुर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। आईपीएस की तहरीर पर वाराणसी निवासी हिमांशु सिंह राजपूत के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है हालांकि  सर्विलांस सेल ने मोबाइल की लोकेशन गाजीपुर के बहरियाबाद थाने बताते हुए वहां केस दर्ज कराया।  मामले की जांच कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक सुशील कुमार यादव करेंगे।

अमिताभ ने इस संबंध में 6 अप्रैल 2020 को गोमतीनगर पुलिस को शिकायत दी थी, जिसमें खुद को धमकी दिए जाने और अभद्र टिप्पणी का आरोप एक युवक हिमांशु सिंह राजपूत पर लगाया था।  शिकायत में उन्होंने कहा था कि उनके द्वारा इज्जतनगर, बरेली के पुलिस चौकी पर हमला तथा कथित पुलिस बर्बरता से संबंधित एक घटना से जुड़े विडियो को पोस्ट करने पर वाराणसी के हिमांशु सिंह राजपूत ने टिप्पणी की थी।

धमकी देते हुए कहा की “तुम्हारी लाश भी जला दी जाये तो ये हिन्दू धर्म के नाम एक काला दिन होगा, तुम कुत्तों को पूरा खानदान के साथ जिन्दा जला देना है” जैसी बात कहते हुए फेसबुक पर मैसेज भेजा।  गोमतीनगर थाने द्वारा एफआईआर दर्ज नहीं करने पर अमिताभ ने डीजीपी उत्तर प्रदेश को शिकायत भेजी थी, जिसपर डीजीपी ऑफिस के साइबर सेल द्वारा जाँच के बाद टिप्पणी की लोकेशन मांगी। डीजीपी के निर्देश पर गाजीपुर के थाना बहरियाबाद को एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए गए, जिसके बाद यह एफआईआर दर्ज हुई है।

एसपी डॉक्टर ओम प्रकाश सिंह ने बताया कि आईपीएस अमिताभ ठाकुर की तहरीर पर बहरियाबाद पुलिस ने दर्ज मुकदमे में हिमांशु सिंह राजपूत के खिलाफ  अभद्र भाषा का प्रयोग करने तथा जिन्दा जलाने की धमकी देने के मामले में  आरोपी बनाया है। धारा 504, 507 आईपीसी व 66सी आईटी एक्ट दर्ज किया गया है, इसकी विवेचना इंस्पेक्टर बहरियाबाद सुशील कुमार यादव द्वारा की जाएगी। धमकाने वाले की लोकेशन और उसके डिटेल का पता लगाया जा रहा है हालांकि बताया गया है कि उसने इसके लिए इंकार किया है साथ ही फोन हैक होकर किसी और द्वारा पोस्ट किए जाने की बात भी कही है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More