खबर तह तक

योगी सरकार पर टिप्पणी करना पड़ा भारी, विधायक राधा मोहन को मिली कारण बताओ नोटिस

लखनऊ: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने गोरखपुर सदर से पार्टी विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. दरअसल, भाजपा की रीति-नीति और सिद्धांतों के विरुद्ध आचरण करने के आरोप में पार्टी विधायक डॉ. राधामोहन दास अग्रवाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. राधा मोहन दास अग्रवाल का एक ऑडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह योगी सरकार के जातिवादी होने की बात कह रहे हैं. यह ऑडियो वायरल होने के बाद बीजेपी के प्रदेश नेतृत्व ने विधायक को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के निर्देश पर प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर ने विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा कि पार्टी के आचरण के विरुद्ध विधायक द्वारा सरकार और संगठन की छवि को धूमिल करने वाली पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही है. उन्होंने कहा कि विधायक का यह कृत्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है. ऐसी स्थिति में उन्हें 1 सप्ताह में अपना स्पष्टीकरण पार्टी कार्यालय भेजने के लिए नोटिस जारी किया गया है.

सांसद रवि किशन ने दी प्रतिक्रिया

भाजपा से गोरखपुर सांसद रवि किशन ने गोरखपुर के विधायक राधा मोहन को नोटिस मिलने पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि कोई भी, कितना भी वरिष्ठ विधायक हो, जो सरकार पर हमेशा टिप्पणी करता हो, लगातार हमारे कामों पर कटाक्ष कर रहा है, ओछी हरकतें कर रहा है, उसे बख्शा नहीं जाएगा. हमारे संगठन ने यह बात सुनी, मैं अपने संगठन को धन्यवाद व्यक्त करता हूं. कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद पर सवाल पूछने पर उन्होंने कहा कि यह उनकी पार्टी का आंतरिक मामला है.

सांसद रवि किशन ने दी प्रतिक्रिया

भाजपा से गोरखपुर सांसद रवि किशन ने गोरखपुर के विधायक राधा मोहन को नोटिस मिलने पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि कोई भी, कितना भी वरिष्ठ विधायक हो, जो सरकार पर हमेशा टिप्पणी करता हो, लगातार हमारे कामों पर कटाक्ष कर रहा है, ओछी हरकतें कर रहा है, उसे बख्शा नहीं जाएगा. हमारे संगठन ने यह बात सुनी, मैं अपने संगठन को धन्यवाद व्यक्त करता हूं. कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद पर सवाल पूछने पर उन्होंने कहा कि यह उनकी पार्टी का आंतरिक मामला है.

हालांकि बाद में उन्होंने यह ट्वीट डिलीट कर दिया था, लेकिन उनके इस ट्वीट के बाद सरकार और संगठन के बीच असहज स्थिति उत्पन्न हो गई थी. इसके बाद डैमेज कंट्रोल की कोशिश भी की गई. बीजेपी विधायक लगातार अपने सोशल मीडिया पर की जा रही टिप्पणी को लेकर चर्चा में थे. इसके बाद वायरल हुए ऑडियो मैसेज के बाद पार्टी नेतृत्व ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करके स्पष्टीकरण मांगा है.

सूत्रों के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी के विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल योगी सरकार के कामकाज से संतुष्ट नहीं है. अफसरों के जनप्रतिनिधियों द्वारा कामकाज न करने और सरकार में एक वर्ग विशेष को ज्यादा तवज्जो देने जाने को लेकर वह नाराज चल रहे थे. इन्हीं तमाम कारणों के चलते वह सोशल मीडिया पर आए दिन अपनी बात भी रखते हैं, इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए पार्टी नेतृत्व ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी की है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More