खबर तह तक

यूपी में खाद की कालाबाजारी करने वालों पर लगेगा NSA

0

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खाद की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने मंगलवार को यहां टीम-11 की बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने पर्याप्त मात्रा में खाद की व्यवस्था की है, इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को समय पर खाद मिलती रहे. खाद की कालाबाजारी न होने पाए. यदि कहीं भी खाद की कालाबाजारी हो तो इसमें संलिप्त लोगों के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की जाए.

सीएम योगी ने कोविड-19 के मेडिकल टेस्टिंग को पूरी क्षमता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रतिदिन 85 हजार से अधिक रैपिड एंटीजन टेस्ट और 45 हजार से अधिक आरटीपीसीआर टेस्ट अवश्य किए जाएं. इसके अतिरिक्त ट्रूनैट मशीन के माध्यम से भी अधिक से अधिक जांच की जाए.

अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा

सीएम योगी ने मंगलवार को अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान कानपुर नगर, लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी और बलिया में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने इन जिलों में बड़े पैमाने पर कोरोना की जांच करने के लिए भी निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि इस संबंध में कारगर रणनीति तैयार करके उसे प्रभावी तरीके से लागू किया जाए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के नियंत्रण व उपचार संबंधी विभिन्न गतिविधियों को सुचारू ढंग से संचालित करने में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर की महत्वपूर्ण भूमिका है. बेहतर सर्विलांस ही मृत्यु दर को नियंत्रित कर सकता है, इसलिए सभी जिलों में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के कार्यों की नियमित मॉनिटरिंग की जाए.

बेड की संख्या में करें वृद्धि

कोविड चिकित्सालयों में बेड की संख्या में वृद्धि करने के लिए कहा गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड अस्पतालों की चिकित्सा सुविधाओं को गुणवत्तापरक बनाए रखा जाए. यह सुनिश्चित किया जाए कि चिकित्सक व नर्सिंग स्टाफ नियमित भ्रमण पर निकलें. चिकित्सा के तकनीकी स्टाफ में आवश्यकतानुसार वृद्धि की जाए. उन्होंने चिकित्साकर्मियों को मेडिकल संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए इनके प्रशिक्षण कार्य को निरंतर जारी रखने के भी निर्देश दिए हैं.

ई-संजीवनी का हो प्रचार-प्रसार

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार की ऑनलाइन ओपीडी सेवा ई-संजीवनी अत्यंत उपयोगी सिद्ध हो रही है. बड़ी संख्या में मरीज इस सुविधा का लाभ ले रहे हैं. ई-संजीवनी सेवा का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए, ताकि अधिक से अधिक लोग इस ऑनलाइन ओपीडी सेवा का लाभ प्राप्त कर सकें. मुख्यमंत्री ने डोर-टू-डोर सर्वे कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि इस कार्य में आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टीमें भी लगाई जाएं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Translate »