खबर तह तक

एटा: जिला कारागार में बंद महिला कैदियों की कराई गई कोरोना की जाँच

एटा। वैश्विक महामारी कोरोना पूरे देश में हा-हा-कार मचाये हुए है और हर जगह पूरी तरह से फैल चुका है, देश की विभिन्न जेलों में निरुद्ध बंदियों में कोरोना संक्रमण के फैलने को लेकर एटा जेल अधीक्षक पीपी सिंह ने गंभीरता दिखाते हुए एटा जेल में बंद महिला कैदियों और जेल महिला कर्मियों का युध्द स्तर पर जेल में कोरोना टेस्ट कराते हुए कोरोना जाँच अभियान चलाया गया। जिसमें पहले दिन 50 माहिला बंदियों और जेल कर्मियों का कोरोना टेस्ट कराया गया, जिसमें 40 महिला बंदी और 10 महिला जेल कर्मियों का सैंपल लेकर जांच के लिए लैब में भेजे गए हैं।

वही जेल अधीक्षक पी पी सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि जयपुर, दिल्ली, मुंबई,आगरा की सेंट्रल जेलों में कोरोना संक्रमण निकलने से एटा जिला कारागार के बंदियों में भी संक्रमण को लेकर हड़कम्प मच गया था, तभी जेल अधीक्षक पीपी सिंह ने कोरोना संक्रमण को गंभीरता से लेते हुए हमने जिले के डीएम व सीएमओ को पत्र भेजकर कोरोना जांच की माँग की गई थी जिसको एटा डीएम ने जिला जेल में स्वास्थ्य टीम भेजकर जेल में बंदियों और जेल कर्मियों का परीक्षण कराया गया है जिसमे द्वितीय चरण में जांच प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है।

एटा: जिला कारागार में बंद महिला कैदियों की कराई गई कोरोना की जाँच
जेल अधीक्षक पीपी सिंह

दरअसल आपको बता दें की जयपुर, दिल्ली, मुंबई, व आगरा की सेंट्रल जेल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुई बीमारी को दृष्टिगत रखते हुए जेल अधीक्षक पीपी सिंह ने एटा जिला कारागार में 50 महिलाओँ की कोरोना टेस्टिंग की गई, जिसमें 10 पुलिस स्टाफ व 40 महिला बंदियों के सैंपल लिए गए, जिन्हें अलीगढ़ लैब के लिए भेजा गया है, और जिला कारागार को लगातार सैनिटाइजर भी कराया जा रहा है।

वही आपको बता दें कि जेल प्रशासन पहले से ही कोरोना महामारी को लेकर काफी संजीदा दिख रहा है कियोकि लगातार जेल को सेनेटाइज करते हुये जेल में बंदियों से मास्क बनबा कर सभी बंदियों को मास्क और सेनेटाइज वितरित कर निर्देशित करते हुए एतिआत के तौर पर मास्क लगाए जा रहे हैं, वही एटा जेल में बंदियों द्वारा लॉक डाउन के दौरान अब तक पांच हजार से ज्यादा मास्क बनाकर पुलिस,प्रशाशन और स्वास्थ्य कर्मियों में जेल अधीक्षक द्वारा वितरित भी कराए जा चुके है।

वही जब जेल अधीक्षक पीपी सिंह से बात की गई तो उन्होंने अन्य जेलों में बढ़ते संक्रमण को लेकर गंभीर होते हुए बताया कि एटा डीएम सुखलाल भारती व सीएमओ को पत्र लिखकर जिला जेल में बंदियों का स्वास्थ्य प्रशिक्षण कराया जाए, उसके बाद स्वास्थ टीम जिला जेल में पहुंची जिन्होंने 50 लोगों का लगातार सैंपल लिये गए और आज भी 30 सैम्पल और लिए जाएंगे।

वही अधीक्षक ने बताया की जेल में बंदियों द्वारा पांच हजार तक मास्क बनाकर तैयार किए गए हैं, जिनमें से कुछ मास्क बंदियों को व स्टॉप और असहाय लोगों को वितरित किए जाएंगे और उन्होंने कहा बंदियों द्वारा भी पीपी किटस भी बनाई जा रही है, बंदियों को परिवार से मिलने की अनुमति नहीं दी जा रही है, कोरोना महामारी के दृष्टिगत जिला कारागार में बहुत सतर्कता बरती जा रही है, और उन्होंने कहा बंदियो को अपने परिवार से टेलीफोन द्वारा बातचीत कराई जा रही है, वही जेल अधीक्षक पीपी सिंह के इस कुशल कार्य प्रणाली को देखकर जनपद के लोग जेल अधीक्षक की प्रशंसा करते देखे जा रहे है।

वही अब जेल कर्मियों और बन्धियों में कोराना संक्रमण को लेकर उनके मन मे एक सवाल उठ रहा है कि कही हम पोजिटिव ना आजाये और जब तक इन सभी 80 लोगों के सैंपलों की जांच नही आ जाती तब तक इन लोगों के अंदर एक डर सा बैठा हुआ है, कहीं इनको कोरोना पॉजिटिव ना निकले, वही बंधी शोशल डिस्टेंस का पालन करते भी देखे गए।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More