उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरसुलतानपुर

सुलतानपर: माँ की ममता हुई शर्मसार, झाड़ी में मिला जिंदा नवजात शिशु

भूपेंद्र सिंह


जाको राखे साइयां मार सके न कोय

सुलतानपर। पूत कपूत सुने है पर माता न सुनी कुमाता, कही जाने वाली यह कहावत बदलते हुए आर्थिक दौर यानी कलयुग मे महज खोखली नजर आती है। जिस कहावत से माँ का आँचल ममता से भरा व बेदाग कहा जाता रहा है। आज ऐसी चंद कलयुगी माताओं के चलते मां की ममता शर्मसार हो जा रही है। ऐसा ही वाकया सोमवार को सुलतानपर जनपद के दोस्तपुर थाना क्षेत्र के उघड़पुर भटपुरा गांव के सड़क किनारे की झाड़ी में मिले एक जिंदा नवजात शिशु को देख व सुनकर हर कोई यही कहता हुआ दंग रह गया

और ऐसी माँ के कृत्यों पर कोसते हुए ग्रामीण उस पर कई सवाल उठाते रहे। जो ममता मयी कलयुगी मां अपने कोख से जन्मे इस नवजात शिशु को झाड़ियों में छोड़ कर चली गई हो आखिर उस नवजात शिशु का क्या कसूर रहा जिसको उसकी मां ने कई माह तक कोख मे पालने के बाद आखिर उसे सड़क किनारे एक झाड़ी में छोड़ कर चली गई हो। फिर भी वह नवजात शिशु जिंदा बचा रह जाय।आखिर जाको राखे साइयाँ मार सके न कोय, ग्रामीणों ने झाड़ियों में उस नवजात शिशु को देख इंसानियत का परिचय देते हुए उसकी साफ सफाई करते हुए इसकी सूचना स्थानीय दोस्तपुर थाने की पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस अग्रिम कार्यवाही में जुट गई।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button