उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

सुरक्षा उपायों के बीच दौड़ने लगी रोडवेज बसें, प्रबंध निदेशक ने लिया सुरक्षा प्रबंधों का जायजा

  • बस अड्डे पर हो रही है यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग
  • बगैर मास्क सफर नहीं कर सकेंगे यात्री

लखनऊ। कड़े प्रतिबंधों और सुरक्षा उपायों के बीच उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की 7 हजार 500 बसें सवेरे 8 बजे से प्रदेश की सड़कों पर दौड़ने लगी हैं। परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक राजशेखर ने देर रात तक यात्रियों और स्टाँफ के लिए किये जाने वाले सुरक्षा प्रबंधों का जायजा लिया और सवेरे बसों का संचालन शुरु होते समय भी मौजूद रहे।

प्रंबध निदेशक रोडवेज राजशेखर ने बताया कि सवेरे बजे से कैसरबाग बस अड्डे को यात्रियों के लिए चालू कर दिया गया है। 11.30 बजे से आलमबाग बस अड्डे से भी संचालयन शुरु हो जाएगा। बस अड्डे पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं। बसों में जाने वाले हर यात्री की सबसे पहले थर्मल स्कैनिंग की जा रही है।

इसके उनकों सैनिटाइज किया जा रहा है। हैंड सैनिटाइजेशन के बाद ही यात्रियों को बसों में बैठने की इजाजत दी जा रही है। राजशेखर ने कहा कि जिन बसों को सेवा में लगाया गया है, वे सभी बसें पूरी तरह सैनिटाइज्ड की गयी हैं । इन बसों को डिपो से पूरी तरह सैनिटाइज करने के बाद ही सफर के संचालन में लगाया जा रहा है।

रबंध निदेशक ने बताया कि बस में खड़े होकर यात्रा करने की इजाजत नहीं है।  निर्धारित सीटों की संख्या के आधार पर ही यात्रियों को बैठने की इजाजत दी जा रही है। इसके साथ ही बसे के संचालन में लगे कंडक्टरों और ड्राइवरों के लिए भी सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। उनके लिए भी मास्क और सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है और इसके अलावा बसों में भी सैनिटाइजेशन किया जा रहा है।

यात्रा के बीच में भी यात्री हाथ को साफ करने की सुविधा होगी पर सफर के दौरान कोई भी यात्री बगैर मुंह ढके यात्रा नहीं कर सकेगा। जो लोग बिना मास्क के रूमाल या गमछे से मुंह ढक कर सफर करेंगे, उन्हें इजाजत नहीं दी जा रही है। ऐसे लोगों के लिए मास्क की वैकल्पिक व्यवस्था भी की गई है। एमडी राजशेखर बस संचालन की व्यवस्था देखने आलमबाग बस अड्डे रवाना हो गये हैं जहां दोपहर से बसों को संचालन होना है।

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button