उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

संगीत नाटक अकादमी से संचालित होंगी ऑनलाइन कार्यशालाएं

  • कथक कार्यशाला प्रारम्भ
  • अब चलेगी लोकगीत, मेक-अप व स्पीच वर्कशाॅप

लखनऊ। कथक केन्द्र, उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी की पहली जून से चलने वाली ऑनलाइन कथक कार्यशाला तकनीकी तैयारियों और ट्रायल के बाद आज से प्रारम्भ हो गई। एक महीने की यह निःशुल्क कार्यशाला छह बैचों में 30 जून तक चलेगी। अकादमी की कथक के बाद अन्य विषयों की निःशुल्क कार्यशाला संचालित करने की योजना है।

कथक केन्द्र के निदेशक व अकादमी के सचिव तरुण राज ने बताया कि अकादमी कथक केन्द्र की इस वर्ष कोविड-19 के कारण ऑनलाइन आयोजित की गई इस ग्रीष्मकालीन कथक कार्यशाला में आठ वर्ष से ऊपर हर उम्र के लोगों ने रुचि दिखायी। लगभग सौ से लोगों के पंजीकरण के कारण हमने प्रतिभागियों को छह बैचों में बांटा। केन्द्र की प्रशिक्षिका श्रुति शर्मा पहले तीन बैचों व नीता जोशी शेष तीन बैचों को प्रशिक्षण दे रही हैं। थियेटर लाइटस, कैमरा आदि के संग बेहतर तकनीकी तैयारियों की बदौलत प्रशिक्षण पाने वालों का बहुत ही अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।

इसी क्रम में गोरखपुर के कलाकार राकेश श्रीवास्तव के संयोजन में पांच जून से 25 जून तक अवधी-भोजपुरी संस्कार गीतों की कार्यशाला संचालित जायेगी। कथक कार्यशाला की भांति यह लोकगीत कार्यशाला भी निःशुल्क होगी। इस कार्यशाला में प्रतिभाग करने के लिए प्रतिभागियों को अपना नाम, पिता का नाम, पता, जन्मतिथि व उम्र लिखकर मोबाइल नम्बर 9415282997 पर व्हाट्सएप पर भेजना है। उन्होंने बताया कि आगे आॅनलाइन मेकअप और एक्सप्रेशन व स्पीच की कार्यशालाएं संचालित करने की तैयारी है।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button