ताज़ा ख़बरदेश

राज ठाकरे बनने की कोशिश न करें केजरीवाल: मनोज तिवारी

प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर हल्ला बोल

नई दिल्ली।देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के आंकड़े प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ कोरोना के मुद्दे पर विपक्ष राज्य सरकार पर लगातार हमला तेज करती हुई नजर आ रही है। दिल्ली भाजपा ने संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा छिपाने, इलाज के लिए सुविधाओं में कमी समेत कई मुद्दे पर सोमवार को प्रदर्शन का ऐलान किया था।दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी जब राजघाट पर प्रदर्शन करने पहुंचे तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इसी कड़ी के तहत अब मनोज तिवारी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला करते हुए उन्हें अगला राज ठाकरे बनने की कोशिश में की बात कह डाली।

मनोज तिवारी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री केजरीवाल लोगों को बांटने की राजनीति कर रहे हैं और एक तरह से राज ठाकरे बनने की कोशिश कर रहे हैं, और राज्यों के लोगों के साथ भेदभाव करने की कोशिश है. उन्होंने कहा कि राजधानी दिल्ली सबकी है. मुख्यमंत्री का दावा था कि उनके पास हजारों बेड हैं, वह दावा झूठा निकला. हमारा प्रदर्शन सोशल डिस्टेंसिंग के साथ था, लेकिन हमें हिरासत में ले लिया गया।यह सब सरकार के इशारे पर किया गया है।

दरअसल मनोज तिवारी जब राजघाट पर प्रदर्शन करने पहुंचे थे तभी दिल्ली पुलिस ने उन्हें वहां से हटा दिया और अपने साथ थाने ले आई। मनोज तिवारी के साथ बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं को भी दिल्ली पुलिस बस में बैठाकर राजेंद्र नगर पुलिस स्टेशन ले गई।  मनोज तिवारी के साथ बीजेपी नेता निजी अस्‍पतालों में ज्‍यादा फीस, दिल्‍ली सरकार की को लेकर प्रदर्शन करने राजघाट पहुंचे थे. इसके अलावा उनका आरोप प्रवासी मजदूरों को लेकर भी है.बीजेपी जहां दिल्ली सरकार पर कोरोना से मरने वाले लोगों का आंकड़ा छिपाने का आरोप लगा रही है, तो वहीं उनका ये भी कहना है कि केजरीवाल सरकार कोरोना महामारी को संभालने में असफल हो चुकी है।

इसके अलावा दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से आर्थिक मदद की मांग की है, इसे लेकर भी बीजेपी की ओर से हमला किया गया. मनोज तिवारी ने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार विज्ञापनों में अपना खर्च कर रही है, ऐसे में पैसा कैसे बचेगा जनता के पैसे का पूरी तरह से दुरूपयोग किया गया है दिल्ली सरकार के द्वारा और अब लोगों का ध्यान भटकाने के लिए केन्द्र सरकार से सहायता की मांग कर रहे हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button