उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरहरदोई

प्रेमी के घर जा पहुंची प्रेमिका, खाकी खादी ने कराई शादी

  • दोनो के बीच हुआ प्रेम चढा परवान तो साथ जीने मरने की खाई कसम
  • लॉक डाउन में घर आये परिजनों के साथ वापस आया प्रेमी जोड़ा
  • छुपते छुपाते मिलने में आई अड़चने तो प्रेमिका ने उठाया कदम
  • शाहाबाद से प्रेमी को मिलने पाली जा पहुंची प्रेमिका

हरदोई। अपने प्रेमी से मिलने के लिए शाहाबाद से पाली पहुंची प्रेमिका के हौसले और प्रेम देखकर कस्बे के सभासद और खाकी ने दोनों का विवाह करा दिया और आशीर्वाद देकर उनके नव जीवन की कामना का आशीर्वाद दिया। दरअसल प्रेमिका अपने परिजनों को चकमा देकर 20 किलोमीटर दूर चलकर प्रेमी के पास पहुंची थी। मामला पाली थाना इलाके के कस्बे का है।

इस मोहल्ले के निवासी चेतराम अपने परिजनों के साथ पंजाब प्रांत के एक ईट भट्ठे पर काम करता था। यहीं पर शाहाबाद के वासिद नगर मोहल्ले के रहने वाले ओमेन्द्र कश्यप भी अपने परिजनों समेत वहीं पर काम कर रहे थे।एक ही जनपद और जाति के होने की वजह और गैर प्रान्त में करीबी बनने से दोनों परिवारों के बीच काफी घनिष्ठता थी।

इसी के कारण दोनो के पारिवारिक सम्बन्ध बने और फिर एक दूसरे के घरों को आना जाना शुरू हुआ। इसी दौरान ओमेंद्र कश्यप की पुत्री राम बेटी और चेतराम की आंखे चार हुई तो मामला दोस्ती तक पहुंच गया। काफी समय इन लोगों ने बिताया तो दोनों एक दूसरे को चाहने लगे और आखिरकार प्रेम का इजहार करते हुए दोनो ने साथ जीने मरने की कसमें खा ली।दोनो इतने करीब आ चुके थे इसकी भनक किसी को नही लगी।

इधर देश मे कोरोना वायरस ने अपना आतंक मचाया तो देश मे लॉक डाउन घोषित हो गया।लॉक डाउन की वजह से पहले तो दोनों परिवारों ने वही रुककर काम करने की सोंची लेकिन जब लॉक डाउन लम्बा खिंचा तो दोनों अपने अपने परिवारों के साथ अपने अपने घरों को लौट आये।दोनों परिवारों के बाद दोनों प्रेमी युगल एक दूसरे से मिलने आने लगे।

लेकिन प्रेमी युगल को यह दूरी खलने लगी और आखिरकार रामबेटी अपने परिजनों को चकमा देकर पाली नगर में अपने प्रेमी के घर जा पहुंची।इस बात की जैसे ही जानकारी मोहल्ले के सभासद अजीत गुप्ता को लगी तो थानाध्यक्ष से पूरी बात बताई गई। उसके बाद सभासद ने थानाध्यक्ष धर्मेंद्र प्रताप सिंह से बात की और दोनों के परिजनों को बुलाकर समझाने के पश्चात उनकी रजामंदी से नगर के सुविख्यात धार्मिक स्थल पंथवारी देवी मंदिर प्रांगण में वैदिक रीति रिवाज के अनुसार दोनों का विवाह संपन्न कराने के बाद प्रेमी युगलों की उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए दोनों को आशीर्वाद प्रदान किया।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button