उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरपीलीभीत

पीलीभीत: इस गांव में लोगों के जीवन का हिस्सा हैं चमगादड़

पीलीभीत। देश में कोरोना वायरस के मामले दिन प्रतिदिन तेजी के साथ बढते जा रहे है। जिसके कारण लोगों के मन में भय व्याप्त है। वहीं इस वायरस के पीछे स्तनधारी प्राणी चमगादड़ की मौजूदगी भी लोगों के बीच खास चर्चा का कारण बनी हुई है। चीन में चमगादड़ से वायरस पनपने की खबरों के चलते देश में चमगादड़ लोगों के बीच डर का कारण बने हुए है।

गाँव देहात में लोग पेड़ों व सूनसान स्थानो पर मौजूद चमगादड़ों को देखकर दहशत में है। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जनपद में हाल ठीक इसके विपरीत है। यहां लोग पेड़ पर मौजूद चमगादड़ों को देखकर खौफजदा न होकर उन्हें अपने जीवन का हिस्सा मानते है। वहीं पीलीभीत के वन अधिकारी भी चीन के चमगादड़ों को भारत के चमगादड़ों से भिन्न बताकर लोगों से न डरने की अपील करते हुए नजर आ रहे है।

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में कोरोना वायरस के चलते डर का माहौल व्याप्त है। सभी लोग लॉकडाउन का पालन कर रहे है। इसके अलावा तमाम तरह की एहतियात बरत रहे है ताकि इस महामारी से सुरक्षित रह सके। इसके अलावा जिले में कोरोनावायरस की उत्पत्ति के कारक स्तनधारी प्राणी चमगादड़ लोगों के बीच चर्चा का विषय बने हुए है।

जहां अन्य जिलों में चमगादड़ के प्रति लोगों के मन में भय बना हुआ है वहीं यहां के लोग उन्हें अपने जीवन का हिस्सा मानकर उनसे डरते नही बल्कि उन्हें प्रकृति की देन मानते है। लोगों का कहना है कि उन्होनें पेड़ पर लटके चमगादड़ों को पिछ्ले कई सालों से अपने वातावरण में साथ पाया है। जिससे उनकों कोई भी हानि नही हुई है। ऐसे में चीन से जन्मे कोरोना वायरस के जिम्मेदार प्राणी चमगादड़ को भारत के चमगादड़ से भिन्न मानकर लोग उनके बीच में गुजर बसर करते नजर आ रहे है।

एच राजा मोहन (फील्ड डायरेक्टर) पीलीभीत टाइगर रिजर्व ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति चमगादड़ से होने का दावा चीन द्वारा किया जा रहा है ऐसे में लोगों को चमगादड़ से भयभीत होने की कोई जरूरत नहीं है। चीन के चमगादड़ और यहां के चमगादड़ अलग है। जिनसे किसी को नुकसान नही है।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button