उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊवाराणसी

काशी विश्वनाथ में कड़े प्रतिबंधों के बीच श्रद्धालु कर सकेंगे बाबा के दर्शन

लखनऊ/वाराणसी। वाराणसी का विश्वविख्यात काशी विश्वनाथ मंदिर के कपाट 8 तारीख से श्रद्दालुओं के लिए खुल जाएंगे। इस दौरान न तो पुजारी भक्तों को टीका लगाएंगे और न भगवान को अर्पित किये गये फूल ही दिये जाएंगे। प्रशासन ने बाबा के मंदिर में आने के लिए एडवाइजरी तैयार कर दी है। बीते 22 मार्च से बंद काशी विश्वनाथ मंदिर को शासन की गाइडलाइन के मुताबिक 8 जून से खोलने की तैयारी शुरू हो चुकी है। प्रशासन और धर्माचार्यों ने मंदिर में दर्शन के लिए गाइडलाइन तैयार कर दी है।

इसके मुताबिक मंदिर में प्रवेश करते वक्त श्रद्धालुओं को मॉस्क लगाना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही मंदिर में सेनेटाइजेशन का पूरा इंतजाम भी किया जाएगा। मंदिर प्रशासन के अनुसार सभी लोगों की सुरक्षा अहम है ऐसे में सभी को नियमा पालन करना अनिवार्य होगा।मंदिर प्रशासन के अनुसार स्थानीय स्तर पर जो तैयारियां की गई है। मंदिर परिसर में दाखिल होने के लिए दो एंट्री गेट हैं। रानी भवानी उत्तरी और पश्चिमी। इन दोनों गेट पर आटोमोटिव सैनेटाइजिंग मशीन लगाया जा रहा है, जो सेंसर बेस पर काम करेगा।

सभी श्रद्धालुओं को मास्क लगाना अनिवार्य होगा और मंदिर से घुसने से पूर्व अपने हाथ को सैनिटाइज करना होगा। प्रशासन के अनुसार पूरी कोशिश रहेगी कि मंदिर प्रांगण के अंदर भी श्रद्धालुओं की दूरी 2 मीटर से अधिक रहे। इतना ही नहीं बल्कि दर्शन करने आने वाले श्रद्लुओं की मुख्यद्वार पर ही थर्मल स्कैनिंग भी की जाएगी। अंदर आने के बाद दो-दो मीटर पर गोले बनाए गए हैं। जहां पर श्रद्धालुओं को खड़ा होना होगा। जब अगला गोला खाली होगा, तभी श्रद्धालु आगे बढ़ेंगे। तय किया गया है कि मंदिर के गर्भगृह के अंदर प्रवेश वर्जित होगा। पुजारियों टीका भी नहीं लगाएंगे और न अर्पित किया हुआ फूल ही किसी को वापस नहीं मिलेगा।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button