आगराउत्तर प्रदेशताज़ा ख़बर

अनलॉक 1.0: नसबंदी पर ब्रेक, अब कंडोम पर फोकस

आगरा। स्वास्थ्य विभाग हम दो हमारे दो की टीम को आगे बढ़ाते हुए परिवार नियोजन के कामों को शुरू करने जा रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन में परिवार नियोजन के साधनों का वितरण नहीं हो सका था। विभाग अब जनसंख्या में बढ़ोतरी रोकने के लिए इनका वितरण करेगा। हालांकि अभी पुरुष और महिला नसबंदी का काम शुरू नहीं हो सकेगा।

अनलॉक-1 के बाद प्रमुख सचिव ने जरूरी निर्देश जारी किए हैं।सभी सेवाएं कोविड 19 के प्रोटोकॉल को ध्यान में रख कर दी जाएंगी। इस काम में फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कर्मियों का सहारा लिया जाएगा। कोरोना के केस वाले इलाकों में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों के माध्यम से गर्भनिरोधक गोलियों और कंडोम का वितरण कराया जाएगा। आशा, एएनएम या अन्य स्वास्थ्य कर्मी भी हॉटस्पॉट में अपने दायित्व को अंजाम दे रहे हैं।

उनमें को कोविड 19 के लक्षण परिलक्षित होते हैं तो उनकी ड्यूटी इस काम में नहीं लगेगी। परिवार नियोजन कार्यक्रम की नोडल अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने बताया कि गर्भनिरोधक सामग्री की उपलब्धता एफपीएलएमआईएस पोर्टल के माध्यम से सुनिश्चित की जाए। उन्होंने बताया कि प्रमुख सचिव के पत्र के बाद परिवार नियोजन के कामों को शुरू किया जाएगा।महामारी की स्थिति में भी जनमानस का चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रति विश्वास रखने के लिए परिवार नियोजन की सेवाएं प्रदान करना जरूरी है। गाइडलाइन के मुताबिक काम कराया जाएगा।

पहले की तरह शुरू होगा काम

कोरोना के संकट के बीच नॉन कोविड प्रसव इकाइयों पर सभी तरह के साधन उपलब्ध रहेंगे। सभी तरह की अस्थायी विधियां, पीपीआईयूसीडी, पीएआईयूसीडी, अंतरा, छाया, कंडोम, गर्भनिरोधक गोलियां मिल सकेंगी। पहले की तरह सभी जगहों पर काम होगा, जिससे परिवार नियोजन बना रहे। ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस पर भी परिवार नियोजन संबंधित अस्थायी सेवाएं उपलब्ध करना अनिवार्य होगा।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button