अयोध्याउत्तर प्रदेशताज़ा ख़बर

अतुल खरे हत्याकाण्ड का खुलासा करते एसएसपी आशीष तिवारी

मामूली से विवाद में हुई जघन्य वारदात, चार गिरफ्तार, दो फरार

अयोध्या। चर्चित अतुल खरे हत्याकाण्ड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है, पुलिस ने हत्यारोपी चार आरोपियों को जहां गिरफ्तार कर लिया है वहीं दो अभियुक्तों को पकड़ने के लिए सम्भावित ठिकानों पर दबिश डाली जा रही है। पुलिस का मानना है कि यह हत्या पूर्व नियोजित नहीं थी वरन  शराब का नशा वारदात का कारण बना।

पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने बताया कि वारदात के चैबीस घंटे के भीतर पुलिस ने अतुल खरे हत्याकाण्ड का अनावरण करते हुए आलाकत्ल सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। अभी भी दो आरोपी फरार हैं जिनकी तलाश की जा रही है।

गिरफ्तार किये गये मुख्य आरोपी 33 वर्षीय आदित्य उर्फ शानू पुत्र स्व. कृष्ण कुमार सैनी, 19 वर्षीय राहुल रावत पुत्र रामजीत रावत, 42 वर्षीय राजीत राव पुत्र रामरतन राव निवासीगण मोहल्ला मिर्जाअली बाजार थाना कैंट व बृजपाल मौर्य उर्फ पल्लू पुत्र रामजी मौर्य निवासी मोहल्ला नहरबाग थाना कोतवाली नगर शामिल हैं। आरोपियों के पास से एक कार फोर्ड डीएल 10 सीएफ 1640, सब्जी काटने का एक चाकू, एक माचिस, एक प्लास्टिक की बोतल बरामद की गयी है।

पत्रकार वार्ता में सीओ सिटी अरविन्द चैरसिया ने हत्याकाण्ड की क्रमवार जानकारी दिया। उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी आदित्य उर्फ शानू से कार खड़ी करने को लेकर एमआर अतुल खरे से हल्का विवाद हुआ था। अतुल खरे ने अपने घर जाने वाले मार्ग पर गाड़ी खड़ी करने से मना किया था।

वारदात के दिन गांजा व शराब के शौकीन अतुल खरे आदित्य उर्फ शानू के घर गांजा व शराब पीने के लिए चले गये। गांजा पीने के बाद लोगों ने एक बोतल शराब गटक डाला फिर राहुल रावत को दूसरी बोतल शराब लाने के लिए भेजा गया। दूसरी बोतल शराब अभी शुरू ही हुई थी तभी गाड़ी खड़ी करने को लेकर अतुल खरे व शानू में पुनः विवाद शुरू हो गया सभी नशे में थे इसी बींच वहां मौजूद मिथिलेश नामक युवक ने खाली शराब की बोतल गुस्से में अतुल खरे के सिर पर मार दी जिससे खून निकलने लगा।

अतुल खरे में इसका विरोध किया और गाली गलौज शुरू हो गयी तो एक युवक ने सब्जी काटने वाले चाकू का प्रहार अतुल खरे के गले पर कर दिया वही चाकू शानू ने उठाकर अतुल खरे के गले में घेप दिया जिससे उसकी मौत हो गयी, और खून बहने लगा तो कमरे में रखा आंटा खून बंद करने के लिए युवकों ने अतुल खरे को लगा दिया। वारदात स्थल आदित्य उर्फ शानू जो उद्यान विभाग में लिपिक है के घर के कमरे में था जहां अक्सर तमाम युवक एकत्र होकर मांस मदिरा का सेवन करते थे।

सीओ सिटी ने बताया कि अतुल खरे के मर जाने के बाद सभी के होश उड़ गये, इधर सूचना मिलने के बाद पुलिस ने लापता अतुल खरे को खोजना शुरू किया अतुल खरे का मोबाइल फोन साहबगंज मोहल्ला से एक युवक के पास से बरामद हुआ जिसने बताया कि उसे मोबाइल फोन पड़ा हुआ मिल है। लाश को ठिकाने लगाने के लिए मृतक के घर से ही चादर लायी गयी और शव को गठरी बनाया गया, रात्रि गहरा जाने के बाद जब सन्नाटा पसर गया तो युवकों ने शव को शानू के कमरे से उठाया और लगभग 100 मीटर दूर स्टार बेकरी के सामने सन्नाटा वाले स्थान पर ले जाकर रख दिया और पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

सीओ सिटी ने बताया कि स्टार बेकरी के सीसी टीवी को जब चेक किया गया तो वह खराब निकला इधर शानू के घर पर भी सीसी टीवी कैमरा लगा दिखाई पड़ा परन्तु डीपीआर गायब था जिसमें फुटेज रिकार्ड किये जाते हैं मोबाइल फोन से जब पुलिस ने शानू से सम्पर्क किया तो उसने बताया वह रूदौली गया है और कम्प्यूटर का डीपीआर उसके पास  है। पुलिस ने घेराबंदी करके शानू, राहुल व रामजीत को गिरफ्तार कर लिया। चैथे आरोपी बृजपाल उर्फ पल्लू चला गया था ने वहीं पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। सीओ सिटी ने बताया कि दो अन्य आरोपी मिथिलेश व वेदपाल अभी भी फरार हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button