खबर तह तक

चक्रवात अम्फान से बंगाल में 72 लोगों की मौत, मुआवजे का ऐलान

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में बुधवार को आए चक्रवात अम्फान में मारे गए लोगों के परिवार को लिए राज्य सरकार ने मुआवजे की घोषणा की है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि चक्रवात में मारे गए लोगों के परिवार को मुआवजे के रूप में 2 लाख रुपए की मदद दी जाएगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि चक्रवात अम्फान की वजह से राज्य में 72 लोगों के मौत हुई है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी से पश्चिम बंगाल आने और चक्रवात अम्फान प्रभावित इलाके को दौरा करने का भी निवेदन किया है। कोलकाता और अन्य प्रभावित जिलों के बड़े हिस्सों में बिजली गुल है क्योंकि वहां बिजली के खंभे उखड़ गए। तूफान से कई संचार टावरों को नुकसान पहुंचने के कारण मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं भी बंद हैं।

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि जान-माल के नुकसान का आकलन करना अभी जल्दबाजी होगी क्योंकि इससे सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों तक पहुंचना अभी संभव नहीं है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार अम्फान पिछले 100 वर्षों में राज्य में आया सबसे प्रचंड तूफान है। भारी बारिश और 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाओं के साथ चक्रवात बुधवार को दोपहर ढाई बजे पश्चिम बंगाल के दीघा तट से टकराया जिससे राज्य के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश हुई।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य सचिवालय से मंगलवार रात से हालात पर नजर रख रही हैं। उन्होंने कहा कि ‘अम्फान का प्रभाव कोरोना वायरस से भी भीषण है। अधिकारियों ने बताया कि उत्तर 24 परगना जिले में एक पुरुष और एक महिला के ऊपर पेड़ गिर जाने से उनकी मौत हो गई। इसके अलावा हावड़ा में भी इसी प्रकार की घटना में 13 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि करंट लगने के कारण हुगली और उत्तर 24 परगना जिलों में चार लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने बताया कि कोलकाता के रीजेंट उद्यान क्षेत्र में एक महिला और उसके सात वर्षीय बेटे पर पेड़ गिर जाने से उनकी मौत हो गई जबकि बेहाला इलाके में करंट लगने से दो लोगों की मौत हो गई।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More