देश

तूफान का पिछला हिस्सा अभी समुद्र के ऊपर, पूरी तरह गुजरने में एक घंटा लगेगा

मुंबई। अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान निसर्ग दोपहर करीब 1 बजेमहाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के अलीबाग में समुद्र तट से टकरा गया। इस दौरान इलाके में 125 किमी प्रति घंटै की रफ्तार से हवाएं चलीं। मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवात का पिछला हिस्सा अभी भी समुद्र के ऊपर है। यह करीब एक घंटे में इलाके से गुजर जाएगा। अभी केंद्र में चक्रवात की तीव्रता 90 से 110 किमी प्रति घंटे है।अगले छह घंटेमें यह पूर्वोत्तर की ओर बढ़ेगा और कमजोर चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। इस बीच, मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्टसे शाम 7 बजे तक विमानों की आवाजाही रोक दी गई है।

महाराष्ट्र के 21 और गुजरात के 16 जिलों में तूफान का असर है। दोनों राज्यों मेंएनडीआरएफ ने एक लाख लोगों को सुरक्षित स्थानोंपर पहुंचाया है। इस बीच, मुंबई के बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है। उधर, गुजरातके द्वारका में समुद्र में ऊंचा ज्वार उठा। पहले यह तूफान गुजरात के तट से भी टकराने वाला था, लेकिन मौसम विभाग ने बाद में यह अनुमान वापस ले लिया।

अपडेट्स…

  • मौसम विभाग (कुबालाब) के डिप्टी डायरेक्टर कुष्णानंद होसालीकर ने बताया कि अलीबाग में तूफान टकराते समय यहां 125 किमी की रफ्तार से हवाएं चलनी शुरू हो गईं। यह तूफान रायगढ़ पार कर मुंबई और ठाणे की और बढ़ रहा है। तूफान का असर करीब 3 घंटे तक रहने वाला है।
  • निसर्गतूफान मेंएक जहाज फंस गया और रत्नागिरी के भाटीमिर्या समुद्र तट परपहुंच गया।
  • तूफान से पहलेमुंबई के ससून डॉक परिसर इलाके में समुद्र बहुत अशांत नजर आया। चूंकि यह मछुआरों का इलाका है। लिहाजा यहां पुलिस लगातार बाइक से गश्त कर रही है और लोगों को तट से दूर रहने की हिदायत दे रही है।
  • बृहन्नमुंबई महानगरपालिका ने लोगों को सलाह दी है कि भारी बारिश के दौरान वे घर से बेवजह न निकलें। कार से निकलें तो उसमें हथौड़ी या कोई भारी औजर रखें, ताकि पानी में फंसकर कार का सेंट्रल लॉक जाम हो जाए तो कांच तोड़कर बाहर निकला जा सके।
  • तूफान से पहलेमहाराष्ट्र केपालघर जिले के गांवों से 21 हजार से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। जिले के सभी उद्योगों और बाजारों को बंद कर दिया गया। मछुआरों से 4 जून तक समुद्र में न जाने को कहा गया।
  • तूफान को देखते हुएपश्चिम नौसेना कमान ने अपनी सभी टीमों को सतर्क कर दिया। नौसेना ने 5 बाढ़ टीम और 3 गोताखोरों टीमों को मुंबई में तैयार रखा है।

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button